1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बिहार में हत्याओं से छिड़ी 'जंगलराज' की चर्चा

भारतीय मीडिया रिपोर्टों में बिहार के वैशाली में एक इंजीनियर की हत्या का मामला सुर्खियां बटोर रहा है. बीते दिनों दरभंगा में हुए दोहरे हत्याकांड के बाद से ही कुछ लोग फिर से जंगलराज की आहट सुनाई देने की आशंका जता रहे हैं.

हाल ही में दरभंगा में एक प्राइवेट रोड निर्माण कंपनी से जुड़े दो इंजीनियरों की हत्या का मामला अभी सुलझा भी नहीं था कि एक और इंजीनियर की हत्या की खबर है. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार मृतक का नाम अंकित झा था जो रिलायंस टेलीकॉम में गुणवत्ता इंजीनियर के रूप में कार्यरत था. राजधानी पटना से करीब 60 किलोमीटर दूर वैशाली जिले में झा का शव बरामद होने की खबरें हैं.

पिछली दोहरे हत्याकांड की जांच में लगी राज्य पुलिस को शक है कि दोनों इंजीनियरों की कंपनी ने जब एक फिरौती की मांग को पूरा नहीं किया तो उन्हें मार डाला गया. इस मामले में कई गिरफ्तारियां हो चुकी हैं और सोमवार सुबह शक के आधार पर एक ऐसे व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है जिसे राज्य में जबरन वसूली गिरोह चलाने वाले वांछित अपराधी संतोष झा का संबंधी और सहयोगी बताया जाता है. अब दोहरे हत्याकांड की जांच बिहार राज्य की विशेष टास्क फोर्स को सौंप दी गयी है.

अभी तक वैशाली में हुई इस इंजीनियर की हत्या के कारण का पता नहीं चल सका है. इसी प्रोजेक्ट से जुड़े दो अन्य इंजीनियरों पर बीते दिनों दो मोटरसाइकिल सवार लोगों ने हमला किया था. उनकी कंपनी को आ रही फिरौती की मांगों को लेकर कुछ ही दिन पहले उन्होंने पुलिस से सुरक्षा देने की मांग की थी. निर्माण कंपनी के अनुरोध पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने निर्माणस्थल पर पुलिसकर्मी तैनात भी किए थे. लेकिन स्थानीय चुनावों के कारण सुरक्षाकर्मियों को वहां से हटा लिया गया था और घटना के समय वहां कोई पुलिसकर्मी मौजूद नहीं था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में मंत्री और बिहार के बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने राज्य में बढ़ते अपराध पर चिंता जताई. उनका कहना है कि बिहार में एक बार फिर जंगलराज लौट रहा है और इसके लिए लालू प्रसाद जिम्मेदार हैं. हाल ही में बीजेपी नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री रह चुके सुशील कुमार मोदी ने अपने एक लेख में टिप्पणी की है, "लालू प्रसाद से हाथ मिलाने वाले नीतीश कुमार लाख कोशिश कर लें बीजेपी किसी भी कीमत पर पुराने दिनों को लौटने नहीं देगी. जंगलराज वाले उन पुराने दिनों को याद कर बिहार की जनता आज भी सहम जा रही है."

आरआर/एमजे

DW.COM

संबंधित सामग्री