1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बाली में ज्वालामुखी सक्रिय, उड़ानों पर असर

ज्वालामुखी की राख के चलते इंडोनेशिया के बाली द्वीप से हवाई संपर्क कटा. 18,000 मीटर ऊंचाई तक पहुंच चुकी राख की वजह से सभी प्रमुख एयरलाइन कंपनियों ने बाली की फ्लाइट्स रद्द कर दी है. सरकार ने चेतावनी जारी की.

default

चेतावनी माउंट ब्रोमो ज्वालामुखी सक्रिय होने के बाद जारी की गई. ज्वालामुखी से लगातार राख और धुंए का गुबार निकल रहा है. इसके संभावित खतरों को देखते हुए इंडोनेशिया के परिवहन मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ''एहतियात के तौर पर हमने एयरलाइन कंपनियों को सुझाव दिया है कि वह ज्वालामुखी के प्रभाव वाले इलाके से बचें.''

इसके बाद कई प्रमुख एयरलाइन कंपनियों ने बाली की उड़ानें रद्द कर दी हैं. ऑस्ट्रेलियन एयरलाइन जेटस्टार और वर्जिन ब्लू की कई फ्लाइट्स को दूसरी जगहों पर भेजा गया है. सरकार के मुताबिक राख का गुबार आकाश में 5,500 मीटर ऊपर तक फैल चुका है.

बाली आने जाने वाले विमान ज्वालामुखी वाले इलाके में 5,500 मीटर से नीचे ही उड़ते हैं. लिहाजा विमान संचालन के लिए इन परिस्थितियों को जोखिम भरा बताया जा रहा है.

इंडोनेशिया में बीते साल माउंट मेरापी ज्वालामुखी सक्रिय हुआ था. अक्टूबर में सक्रिय हुए मेरापी ने 350 से ज्यादा लोगों की जान ली. माउंट ब्रोमो के सक्रिय होने से भी चिंताएं बनी हुईं हैं. इस ज्वालामुखी के आसपास रिहाइशी आबादी नहीं है लेकिन पर्यावरण और एयरलाइन उद्योग के लिहाज से ज्वालामुखी नुकसान पहुंचा रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links