1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बालाक कप्तान रहेंगे, अभी नहीं खेलेंगे

मिषाएल बालाक जर्मन राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के कप्तान तो बने रहेंगे, लेकिन टीम में उनकी धाक अब पहले के समान नहीं बनी रहेगी. 33 वर्षीय खिलाड़ी के साथ बातचीत के बाद टीम के कोच योआखिम लोएव ने ऐसा संकेत दिया है.

default

लोएव और बालाक

मिषाएल बालाक मध्य मैदान के खिलाड़ी हैं. और कोच योआखिम लोएव का कहना है कि मध्य मैदान में फिलहाल उनके पास दो खिलाड़ी हैं. बास्टियान श्वाइनश्टाइगर और सामी खदीरा. और ये दोनों खिलाड़ी बने रहेंगे. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि कि कप्तान के पद से बालाक को हटाया नहीं जा रहा है.

यानी बढ़ चढ़कर कप्तानी का दावा कर रहे 26 वर्षीय फिलिप लाम को दो टूक जवाब दे दिया गया. दूसरी ओर, बालाक तभी कप्तान हो सकते हैं, अगर वे खेलते हैं. यानी 2012 की यूरोपीय चैंपियनशिप प्रतियोगिता तक उन्हें लगातार श्वाइनश्टाइगर और खदीरा के साथ प्रतिस्पर्धा में रहना है. अगर बालाक नहीं खेलते हैं, तो फिलिप लाम ही कप्तान रहेंगे. यानी कप्तानी तो वे कर सकते हैं, लेकिन उन्हें औपचारिक तौर पर कप्तान नहीं बनाया जा रहा है.

दो घंटे तक बालाक और लोएव की बातचीत हुई. प्रेस के सामने कहा गया कि "विश्वास से भरे माहौल में" "खुलकर" बातचीत हुई. उसके बाद लोएव का कहना था, मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूं, कि वह कप्तान बना रहेगा. लेकिन इस अच्छी खबर के साथ बालाक को यह भी सुनना पड़ा, "मैंने बालाक से साफ़ साफ़ कहा है कि मुझे अभी तक यह नहीं लग रहा है कि वह हमारे काम आ सकता है." लोएव ने स्पष्ट कर दिया कि बुंडेसलीगा में अपने क्लब के अगले मैंचों में उसे अपने आपको साबित करना है. क्या उसे मैचों के दौरान बेंच पर बैठे रहना पड़ सकता है? यह पूछे जाने पर लोएव का जवाब था कि अभी इस सवाल का जवाब देने का वक्त नहीं आया है.

खिलाड़ी के तौर पर मिषाएल बालाक ऐसी बहुत सी चुनौतियों का सामना कर चुके हैं. लेकिन इस बार उन्हें और एक प्रतिद्वंद्वी से निपटना है. उनकी उम्र 33 हो चुकी है. दो साल बाद यूरोपीय चैंपियनशिप के दौरान वे 35 के हो जाएंगे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: आभा एम

संबंधित सामग्री