1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बारिश के बाद भारतीय विकेट ढहे

बारिश से प्रभावित पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने बेहद खराब शुरुआत की और पहले तीन विकेट सिर्फ 27 रन पर गिर गए. सहवाग, द्रविड़ और गंभीर पैविलियन लौट चुके हैं और सामने दक्षिण अफ्रीका की कद्दावर टीम मौजूद है.

default

फेल हुए सहवाग

मेजबान टीम के कप्तान ग्रेम स्मिथ ने टॉस जीत कर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया और डेल स्टेन ने इसे बिलकुल सही साबित कर दिया. भारत का स्कोर जब एक रन ही था कि उन्होंने सहवाग को अमला के हाथों कैच आउट करा दिया. इसके बाद राहुल द्रविड़ और गौतम गंभीर ने पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन दो दर्जन रन बनते बनते गंभीर भी आउट हो गए.

दो विकेट सिर्फ 24 रन पर गिरने के बाद भारतीय टीम की स्थिति खराब हो गई. भारत टेस्ट रैंकिंग में पहले और दक्षिण अफ्रीका दूसरे नंबर की टीम है. भारत ने इस देश में कभी भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. राहुल द्रविड़ ने जमने की कोशिश की लेकिन 14 रन के निजी स्कोर पर मॉर्केल की गेंद पर एलबीडब्लू हो गए.

Gautam Gambhir und Rahul Dravid

फेल रहे द्रविड़ और गंभीर

इससे पहले रात भर और सुबह बारिश होती रही, जिसकी वजह से ग्राउंड के आस पास पानी जमा हो गया. विकेट के अलावा मैदान पर पानी दिख रहा था और मौसम विभाग की भविष्यवाणी है कि कल भी बारिस हो सकती है. स्मिथ ने गीली ग्राउंड का फायदा उठाने की कोशिश की है.

उन्होंने टॉस जीत कर कहा, "चूंकि विकेट गीला है, हमने पहले बॉलिंग का फैसला किया है. ग्राउंड स्टाफ बेहतरीन हैं कि उन्होंने विकेट को खेलने लायक बना दिया."

गीली और हरी विकेट को देखते हुए इस ग्राउंड को गेंदबाजों के लिए अच्छा माना जा रहा है. भारत को एक और बड़ा झटका तब लगा, जब जहीर खान इस मैच के लिए फिट नहीं हो पाए. उनकी जगह जयदेव उनादकड को टीम में रख लिया गया है.

भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का कहना है, "अगर हमने टॉस जीता होता, तो हम भी फील्डिंग का ही फैसला करते. पिच बहुत अच्छी दिख रही है लेकिन अंदर से इसमें नमी है. हम तैयारी को लेकर खुश हैं. हालांकि कुछ देर बारिश हुई लेकिन हम खेलने को बेताब हैं."

वनडे वर्ल्ड कप से पहले भारत अपनी आखिरी क्रिकेट सीरीज खेल रहा है. इस सीरीज में जीत हार का उसे काफी मनोवैज्ञानिक फायदा पहुंच सकता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links