1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बारिश का बहाना है, जरा देर लगेगी

कॉमनवेल्थ खेलों के दिन पास आते जा रहे हैं और इनके लिए बनने वाले आयोजन स्थल अभी तक पूरे नहीं हो पाए हैं. इन स्थलों को बनाने की अगली सीमा भी खत्म हो गई है. 3 से 14 अक्तूबर तक नई दिल्ली में होने हैं खेल.

default

भारत के शहरी विकास मंत्री जयपाल रेड्डी ने गुरुवार को कहा कि कॉमनवेल्थ खेलों के आयोजन स्थलों को पूरा करने की अगली डेडलाइन पर भी प्रोजेक्ट खत्म नहीं हो सकेंगे. 3 अक्तूबर से शुरू होने वाले कॉमनवेल्थ खेलों के लिए सभी प्रोजेक्ट 31 अगस्त तक खत्म हो जाने चाहिए थे. लेकिन रेड्डी का कहना है कि 31 अगस्त से दो तीन दिन ज्यादा लगेंगे.

रेड्डी ने प्रोजेक्ट पूरे नहीं हो सकने का दोष बारिश के मत्थे मढ़ दिया, मानो मॉनसून भारत में पहली बार आया हो. 31 अगस्त तक सभी आयोजन स्थल के बनने का काम पूरा करने की सीमा तय की गई थी ताकि इसके बाद ये जगहें आयोजकों के हवाले की जा सकें.

Die Ministerpräsidentin von Delhi Sheila Dikshit

खेलों के पास आते दिन

रेड्डी ने कहा कॉमनवेल्थ खेलों के बारे में मंत्रियों के समूह की बैठक के बाद पत्रकारों को ये बताया, "तय की गई समय सीमा का कड़ाई से पालन नहीं हो सकेगा. बारिश के कारण और कंटेनरों के आने में देरी होने के काम पूरा नहीं हो सका है. लेकिन देरी एक दो दिन की ही होगी इससे ज्यादा नहीं."

पहले भी ये समय सीमा आगे बढ़ाई गई थी इसके बाद दिल्ली सरकार ने 31 अगस्त की सीमा तय की.
रेड्डी ने बताया, "बातचीत का मुख्य मुद्दा एमटीएनएल, टीसीआईएल और प्रसार भारती के काम के बारे में था. उन्होंने सभी ने विस्तार से रिपोर्ट दी है. आखिर में कम्युनिकेशन नेटवर्क सबसे ज्यादा मायने रखता है. इसकी समीक्षा की गई. हमें संतुष्टि है कि हम समय पर चल रहे हैं."

कॉमवेल्थ खेलों के उद्घाटन और समापन समारोह के दौरान हीलियम गुब्बारा एरोस्टाट मुख्य आकर्षण होगा. सितंबर में इसे टेस्टिंग के लिए कुछ दिन उड़ाया जाएगा. रेड्डी ने कहा, हमें एरोस्टाट के इस्तेमाल की तकनीकी तौर पर हरी झंडी मिल गई है.

रिपोर्टः पीटीआई/आभा एम

संपादनः निर्मल


DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री