1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बायर्न की राह में दो जुनूनी टीमें

जर्मन क्लब बायर्न म्यूनिख की निगाहें दो खिताबों पर टिकी हैं. टीम लगातार दूसरी बार चैंपियंस लीग जीतना चाहती है और जर्मन कप भी मिल जाए तो सोने पर सुहागा. लेकिन दोनों ही रास्तों में दो और मदमस्त टीमें रोड़ा बनी खड़ी हैं.

जर्मन कप के फाइनल तक पहुंचने के लिए बायर्न और उसके कोच पेप गुआर्डिओला को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी. दूसरी श्रेणी की बुंडेसलीगा टीम काइजर्सलाउटर्न को बायर्न ने 5-1 से धो दिया. काइजर्सलाउटर्न 1997-98 जैसे चमत्कार की उम्मीद लिए मैदान में आई थी. डेढ़ दशक पहले खेले गए ऐसे ही मैच में उसने बायर्न को आखिरी बार हराया था. तब से टीम आज तक लाल जर्सी वाली बायर्न के सामने टिक नहीं पाई है.

बायर्न म्यूनिख की निगाहें इस वक्त दो-दो ट्रॉफियों पर लगी हैं. टीम चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है, जहां अगले हफ्ते उसका सामना रियाल मैड्रिड से होगा. रियाल ने बुधवार रात अपने धुर प्रतिद्ंवद्वी बार्सिलोना को हराकर स्पेन की कोपा डे रे ट्रॉफी जीती है. ऐसे में जाहिर है कि चैंपियंस लीग में दर्शकों को दोनों ताकतवर टीमों के बीच एक अच्छा मुकाबला देखने को मिलेगा.

Fußball DFB-Pokal Halbfinale FC Bayern München 1. FC Kaiserslautern

बायर्न काइजर्सलाउटर्न मुकाबला

बुंडेसलीगा चैंपियन बायर्न की नजर जर्मन कप पर भी है. लेकिन यहां भी उसकी राह में डॉर्टमुंड नाम का रोड़ा है. पिछले हफ्ते डॉर्टमुंड ने बायर्न को हराकर दिखा दिया कि टीम देर से ही सही, लेकिन लय में आ चुकी है. डॉर्टमुंड के बारे में यह बात मशहूर है कि वो कभी भी किसी को भी हरा सकती है और कभी किसी से भी हार सकती है, लेकिन जब वो लय में होती है तो उसे हराना नामुमकिन सा होता है. नए साल की निराशाजनक शुरूआत के बाद फिलहाल डॉर्टमुंड लय में दिख रही है. युर्गेन क्लॉप की टीम जर्मन कप के फाइनल में पिछले साल का प्रदर्शन दोहरा कर बायर्न को फिर हराने की चाहत भर रही है. खिताबी भिड़ंत 17 मई को बर्लिन के ओलंपिक स्टेडियम में होगी.

रिपोर्ट: बेंजामिन नाइट/ओएसजे

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री