1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बायर्न की ऐतिहासिक हार

जर्मनी के सबसे बड़े फुटबॉल क्लब बायर्न म्यूनिख को चैंपियंस लीग सेमीफाइनल में चार गोल से हार का सामना करना पड़ा है. कोच पेप गोआर्दियोला इस हार की जिम्मेदारी ले रहे हैं. लेकिन जर्मनी में मायूसी है.

पिछले साल की चैंपियन बायर्न की टीम मैच शुरू होते ही पिछड़ गई. पहले लेग में एक गोल से हार चुकी लाल जर्सी वाली टीम इस कदर दबाव में थी कि पहले हाफ में ही तीन गोल खा बैठी. चमकदार आलियांस एरेना में चार गोल ठोकने के बाद मैड्रिड की टीम कुल 5-0 से विजयी घोषित हुई. इसके साथ ही लिस्बन का टिकट पक्का हो गया, जहां फाइनल मैच खेला जाना है.

बायर्न इससे पहले अपने स्टेडियम में कभी भी दो गोल से ज्यादा के अंतर से नहीं हारी थी. इस हार के बाद क्लब के चेयरमैन कार्ल-हाइंस रुमेनिगे ने इसे "विध्वंस" बताया, "हम बुरी तरह हारे और हमारे पास मौके भी बहुत कम थे. हमने बहुत खराब खेला और यह मेरी जिम्मेदारी बनती है. हम यूरोप में सबसे ऊंचे स्थान के लिए खेल रहे थे और गलतियों के बाद आपको सजा मिलती है."

Champions League Halbfinale FC Bayern München - Real Madrid CF

हार से निराश कोच पेप गोआर्दियोला

आर फैक्टर

रियाल की तरफ से अगर रामोस और रोनाल्डो सितारे रहे, तो बायर्न के डबल आर रिबेरी और रोबेन नाकाम. रामोस ने खेल के पहले हाफ में दो झन्नाटेदार हेडर लगाया और दोनों बार गेंद सीधे जाल चूमने निकल गई. बाद में रॉकेट रोनाल्डो ने दो खूबसूरत गोल करके इस बढ़त को दोगुना कर दिया. उनका आखिरी गोल एक फ्री किक पर लिया गया था, जिसे यूट्यूब पर बार बार देखा जा सकता है.

कोच पेप गुआर्डियोला मानते हैं कि उन्होंने रणनीति बनाने में भारी चूक कर दी और उन्हें जर्मनी के तेज तर्रार खिलाड़ी बास्टियान श्वाइनश्टाइगर को टोनी क्रूज के साथ मिडफील्ड में नहीं रखना चाहिए था. दूसरे हाफ में उन्होंने श्वाइनश्टाइगर को हमले पर लगाया और स्थिति थोड़ी बेहतर हुई. पेप ने कहा, "मैंने इंटरवल में खिलाड़ियों से कहा कि मुझसे गलती हो गई है. हमें पता था कि रियाल कैसे खेलता है और गेंद को ज्यादा से ज्यादा अपने पास रखने के चक्कर में मैंने मिडफील्ड मजबूत किया था."

लुढ़कता बायर्न

उन्होंने कहा, "शुरुआती वक्त में हम रक्षापंक्ति मजबूत नहीं कर पाए क्योंकि कोच गलती कर चुका था." पेप को इस बात का दुख है कि सही खिलाड़ी सही जगह पर नहीं तैनात किए गए. वह कहते हैं कि बायर्न के पास गेंद बहुत ज्यादा वक्त नहीं रही और उससे भी रणनीति फेल हो गई. लेकिन आंकड़ों के मुताबिक बायर्न के पास गेंद 69 फीसदी वक्त रही, जबकि रियाल के पास सिर्फ 31 फीसदी.

बायर्न म्यूनिख ने इस सीजन में सात मैच रहते ही जर्मन लीग बुंडेसलीगा का खिताब जीत लिया था. तब तक उनका प्रदर्शन लाजवाब था. लेकिन इसके बाद उनकी धार कम होती गई और अब तो बुंडेसलीगा में भी उनका प्रदर्शन गिर गया है. जर्मन कप के लिए उन्हें एक बार फिर 17 मई को बोरुसिया डॉर्टमुंड से भिड़ना है, जिन्हें हरा कर बायर्न ने पिछले साल का चैंपियंस लीग खिताब जीता था.

कोच की मायूसी उनके बयान में छिपी है, "मेरे और मेरी टीम के लिए यह मुश्किल रात रही लेकिन आलोचनाओं का सामना करना भी आपके काम का हिस्सा है. इस प्रदर्शन के बाद हम संतुष्ट तो नहीं हो सकते, अलबत्ता जर्मन कप फाइनल की तैयारी कर सकते हैं."

बायर्न के कप्तान फिलिप लाम समझते हैं कि टीम को झटके से उबरने में वक्त लगेगा, "यह एक बड़ी निराशा है, जिसका हमें विश्लेषण करना है." टीम के स्टार स्ट्राइकर आर्यन रोबेन भी कहते हैं कि टीम को फिलहाल अगले मैच के बारे में सोचना चाहिए, "हम बुरी तरह पिटे. इसे स्वीकार करो, इस पर रोओ. फिर घर जाओ और आगे बढ़ो."

एजेए/एमजे (एएफपी)