1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बाढ़ के बहाने आईएमएफ से मदद

बाढ़ की विभीषिका से जूझ रहे पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से कमजोर अर्थव्यवस्था का हवाला देते हुए मदद मांगी है. इस सिलिसले में पाकिस्तानी अधिकारियों ने अमेरिका में आईएमएफ के साथ बातचीत शुरू कर दी है.

default

बाढ़ से बेहाल पाकिस्तान

पाकिस्तान का पूरा जोर आईएमएफ की कर्ज अदायगी में रियायत या मुक्ति मिलने और प्राकृतिक आपदा के कारण आपात कर्ज लेने पर है. जिससे चरमराती अर्थव्यवस्था को तात्कालिक राहत पंहुचा कर इसे पटरी पर लाया जा सके. इसके लिए पाकिस्तानी अधिकारी भीषण बाढ़ से समूची अर्थव्यवस्था को हुए भारी नुकसान की दुहाई देते हुए आईएमएफ से आर्थिक मदद की मांग कर रहे हैं.

Superteaser NO FLASH Pakistan Überschwemmung Flutkatastrophe Flüchtlinge

बाढ़ से हुए नुकसान का ब्यौरा पेश करते हुए पाकिस्तान के कृषि मंत्रालय की ओर से बताया गया कि 42.5 लाख एकड़ जमीन पर कपास, गन्ना, चावल और मक्के की फसल नष्ट हो गई. अधिकारियों का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है और इतने व्यापक पैमाने पर फसल नष्ट होने से समूची व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. इससे अनुमानित आर्थिक विकास दर 4.5 प्रतिशत तक पंहुचने की बजाय अधिक से अधिक तीन प्रतिशत तक ही जा सकती है.

ऐसे हालात होने के कारण अमेरिका भी पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पहले से ही कमजोर होने का हवाला देते हुए अब इसके अस्थिर होने की आशंका जता चुका है. इस बीच पाकिस्तान सरकार ने बाढ़ के कारण बेघर हुए लाखों लोगों के आतंकवादी समूहों के हाथों में जाने की आशंका को देखते हुए उसे तत्काल मदद देने की मांग की है.

रिपोर्टः एजेसियां/निर्मल

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links