1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बाघ ने युवक को शिकार बनाया

दिल्ली के चिड़ियाघर में सफेद बाघ ने 12वीं के छात्र को शिकार बनाया. बाघों के बाड़े में पहुंचे छात्र को बचाने के चक्कर में तमाशबीनों बाघ पर पत्थर और डंडे फेंके, इससे झल्लाए बाघ ने मिनटों के भीतर युवक को मार डाला.

चिड़ियाघर के निदेशक अमिताभ अग्निहोत्री ने घटना पर हैरानी जताते हुए कहा, "बाघ ने लड़के को दबोच लिया और मार डाला. अभी यह साफ नहीं हुआ है कि लड़का बाड़े में कूदा या गलती से फिसलकर बाड़े में गिरा."

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक छात्र के बाड़े में गिरने के कुछ देर बाद एक बाघ उस तक पहुंचा. इस दौरान बाघ ने छात्र को एक पंजा मारा. लेकिन बाड़े का आस पास भीड़ जमा होने लगी. मौके पर मौजूद चश्मदीद ने बताया, "हमने बाघ पर डंडे और पत्थर फेंके लेकिन हम युवक को नहीं बचा सके." हमले से झल्लाया बाघ वापस लौटा और उसने लड़के की गर्दन दबोच ली. कुछ ही देर में 20 साल के लड़के की मौत हो गई.

एक चश्मदीद के मुताबिक बाड़े की दीवार पर चढ़े छात्र पर बाघ ने हमला किया. चिड़ियाघर के प्रवक्ता रियाज अहमद खान ने इससे इनकार किया है. खान के मुताबिक बाड़े की दूसरी तरफ 18 फुट ऊंची दीवार है. बाघ इतनी ऊंचाई तक नहीं कूद सकता.

बाघ और वन्य जीव संरक्षण से जुड़ी ब्लिडा राइट के मुताबिक, "एक असामान्य चीज बाघ के इलाके में गिरी. वह कैद में रखा गया एक जंगली जानवर ही है. यहां जाहिर है बाघ की कोई गलती नहीं है." यह घटना बताती है कि साफ दिशा निर्देश लिखे रहने के बावजूद कुछ लोग चिड़ियाघर में किस तरह की शरारत करते हैं.

ओएसजे/एएम (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री