1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बांग्लादेश ने जीती पहले गोल्ड की लड़ाई

इस गोल्ड मेडल पर प्रथम लिखा जा सकता था. कई मायनों में यह पहला गोल्ड था. पुरुष क्रिकेट का पहला गोल्ड. और दोनों टीमों के देशों के लिए भी पहला गोल्ड. लेकिन लड़ाई बांग्लादेश ने जीती.

default

शब्बीर रहमान रोहन के दो छक्कों से पहले तक बांग्लादेश एशियाड का अपना पहला गोल्ड मेडल जीतने से काफी दूर नजर आ रहा था. लेकिन दो छक्कों ने बांग्लादेश के लिए तो नई शुरुआत की ही, अफगानिस्तान के सुनहरे सपनों को चकनाचूर कर दिया.

शुक्रवार को एशियाड में पहली बार क्रिकेट का गोल्ड मेडल दिया गया. और यह मिला बांग्लादेश को. अफगानिस्तान ने पहले खेलते हुए सात विकेट खोकर 118 रन बनाए थे. जवाब में अपने 17 वर्षीय खिलाड़ी रोहन के नाबाद 33 रनों की बदौलत इस टी20 मैच में बांग्लादेश की टीम 21 साबित हुई. बांग्लादेशी खिलाड़ियों के लिए इस जीत के मायने तब समझ में आए जब तीन गेंद बाकी रहते विजयी रन बनते ही वे अपने देश के झंडे हाथों में लिए मैदान की ओर दौड़ पड़े. खुशी से झूमते रोहन ने पत्रकारों से कहा, "हम आज चीतों की तरह खेले. यह मेरी जिंदगी का सबसे खुशी भरा दिन है."

लेकिन उसी मैदान पर माहौल का दूसरा चेहरा भी दिखाई दिया. ज्यादातर पश्तून मूल के खिलाड़ियों की अफगान टीम एकदम बुझी सी नजर आई. देश के दक्षिण पूर्वी हिस्से से आने वाले ये खिलाड़ी हार के बाद एकदम पथरा से गए. अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा नाबाद 38 रन बनाने वाले असगर स्तानिकजई ने कहा, "अफगान लोग शायद बहुत उदास होंगे. सिल्वर मेडल कोई बड़ा मेडल नहीं है लेकिन हमने बढ़िया मुकाबला किया." अफगानिस्तान की अपने पहले एशियाड गोल्ड मेडल की उम्मीदों का बोझ शायद खिलाड़ियों के लिए जरूरत से ज्यादा भारी साबित हुआ. यह बोझ खिलाड़ियों के खेल पर भी नजर आया. लेकिन खेल जैसे जैसे आगे बढ़ा उन्होंने लय पकड़ ली और आखिरकार स्कोर को 118 तक ले गए.

हरे रंग की ड्रेस पहने बांग्लादेशियों के लिए भी शुरुआत अच्छी नहीं रही. उनका पहला विकेट तो तीसरे ही ओवर में गिर गया जब ओपनर नजीमुद्दीन का एक बेहद ऊंचा शॉट समीउल्लाह शिनवाराई के हाथों में जाकर खत्म हुआ. उसके बाद भी अफगान खिलाड़ियों की जबर्दस्त फील्डिंग के आगे बांग्लादेशी रन बनाने के लिए जूझते नजर आए. लेकिन रहमान रोहन की पारी की बदौलत टीम मैच को आखिर तक खींचने में कामयाब हो गई. और 19वें ओवर में लगे दो छक्कों ने सारा खेल बदलकर रख दिया.

एशियाड में इस बार क्रिकेट को पहली बार शामिल किया गया. और संयोग रहा कि क्रिकेट में एशिया की ही नहीं बल्कि दुनिया की दो दिग्गज टीमें पाकिस्तान और श्रीलंका गोल्ड या सिल्वर नहीं बल्कि ब्रॉन्ज मेडल के लिए लड़ रही थीं. इस मुकाबले में अफगानिस्तान से हारे पाकिस्तान ने श्रीलंका को छह विकेट से हराकर जख्म पर मरहम लगाने की कोशिश की.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links