1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बांग्लादेश ने चीन से खरीदी दो पनडुब्बियां

बांग्लादेश ने चीन से दो पनडुब्बियां खरीदी हैं जो उसे सोमवार को सौंप दी गईं. बांग्लादेश की ये पहली पनडुब्बियां हैं जिनके सहारे वो बंगाल की खाड़ी में अपनी नौसेना की ताकत को मजबूत करेगा.

बांग्लादेश ने 20.3 करोड़ डॉलर में चीन से पनडुब्बियां खरीदी हैं. इससे चीन के साथ बांग्लादेश के बढ़ते आर्थिक और रक्षा संबंधों का पता चलता है. बांग्लादेश की सशस्त्र सेनाओं की प्रवक्ता तापोशी राबेया का कहना है कि अगले साल की शुरुआत में ये पनडुब्बियां बांग्लादेश के नौसैनिक बेड़े का हिस्सा बन जाएंगी.

उन्होंने कहा, "ये पहला मौका है जब बांग्लादेश के रक्षा बलों को पनडुब्बियां मिल रही हैं.” हाल के सालों में बांग्लादेश ने अपनी सैन्य ताकत को बढ़ाने पर जोर दिया है. इसके तहत म्यांमार से लगने वाली सीमा के करीब एक नया एयरबेस बनाया गया है. इसके अलावा देश में कई इलाकों में सैन्य छावनियां बनाई गई हैं और नौसैनिक बेड़े में नए युद्धपोत जोड़े जा रहे हैं.

बांग्लादेश में दहशत में जी रहे हैं हिंदू, देखिए

प्रधानमंत्री शेख हसीना की सरकार ने 2013 में रूस के साथ एक अरब डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे जिसके तहत फाइटर ट्रेनिंग जेट, हेलीकॉप्टर और एंटी टैंक मिसाइलें खरीदी जाएंगी. तभी, शेख हसीना ने दो पनडुब्बियां खरीदने का भी एलान किया था ताकि संसाधनों से संपन्न बंगाल की खाड़ी में बांग्लादेश की ताकत को मजबूत किया जा सके.

संयुक्त राष्ट्र के एक ट्राइब्यूनल ने भारत और म्यांमार के साथ लंबे समय तक चले बांग्लादेश के समुद्रीय जलसीमा विवाद को सुलझा दिया. इसके बाद बांग्लादेश बंगाल की खाड़ी में तेल खोजने के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों को आमंत्रित कर सकता है.

नवंबर में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बांग्लादेश का दौरा किया था. वो पिछले 30 साल में बांग्लादेश का दौरा करने वाले पहले चीनी राष्ट्रपति हैं. इस दौरे को इसलिए अहम माना गया क्योंकि बांग्लादेश भारत की करीबी सहयोगी रहा है.

एके/एमजे (एएफपी)

देखिए दुनिया की सबसे बड़ी 10 सेनाएं

DW.COM

संबंधित सामग्री