1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बवेरिया में भी भाई भतीजावाद

जर्मनी के बवेरिया प्रांत में मंत्रियों और विधायकों का अपने करीबी रिश्तेदारों को सरकारी खर्चे पर काम देने का विवाद तूल पकड़ रहा है. विपक्षी एसपीडी ने इस मामले में सत्ताधारी सीएसयू के 5 मंत्रियों के इस्तीफे की मांग की है.

कैबिनेट के पांच सदस्यों में संस्कृति मंत्री लुडविष स्पेनले, कृषि मंत्री हेल्मुट ब्रूनर के अलावा तीन राज्य मंत्री भी हैं. सीएसयू चांसलर अंगेला मैर्केल की सीडीयू पार्टी की सहयोगी है. आने वाले चुनावों में मुख्यमंत्री पद के लिए एसपीडी के उम्मीदवार क्रिस्टियान ऊडे ने आरोप लगाया है कि उन्होंने अपनी बीवियों को अपने दफ्तर में काम पर रखा.

Christian Ude / SPD / München / Bayern

क्रिस्टियान ऊडे

इससे पहले रिश्तेदारों को नौकरी के मामले का पता चलने के बाद सीएसयू पार्टी के विधायक दल के नेता गियॉर्ग श्मिड को इस्तीफा देना पड़ा था. उन्होंने अपनी पत्नी को 5500 यूरो मासिक पर काम दे रखा था. कानून मंत्री बेआटे मैर्क ने स्वीकार किया है कि उन्होंने विधायक की जिम्मेदारी के सिलसिले में अपनी बहन को काम के लिए हर महीने औसतन 1200 यूरो दिए. उन्हें इसमें अपनी गलती का कोई अहसास नहीं था.

इस बीच पता चला है कि रिश्तेदारों को सरकारी पैसे पर काम पर रखने की सुविधा का इस्तेमाल सिर्फ सत्ताधारी पार्टी के विधायक नहीं कर रहे थे. विधान सभा की अध्यक्ष बारबरा श्टाम ने शुक्रवार को 79 विधायकों की एक सूची जारी की है, जो विवादास्पद पुराने नियम का लाभ उठा रहे हैं और जिन्होंने अपने रिश्तेदारों को मदद के लिए काम पर रखा है. इस सूची में अधिकांश लोग सीएसयू के हैं, लेकिन उनमें कुछ एसपीडी विधायक और एक ग्रीन विधायक भी है.

CSU-Fraktionsvorsitzende Georg Schmid mit seiner Frau Getrud 01.02.2013

पत्नी के साथ गियॉर्ग श्मिड

विधान सभा की अध्यक्ष श्टाम ने इस बात की ओर ध्यान दिलाया है अंतरिम नियम इस समय लागू कानून है और विधायक उसका सहारा ले सकते हैं. साथ ही उन्होंने स्वीकार किया कि अंतरिम नियम को इतने लंबे तक उचित नहीं ठहराया जा सकता. विधान सभा में इसी महीने एक नया कानून बनाने की योजना है जिसके बाद पहली जून से विधायक पहले, दूसरे और तीसरे स्तर के अपने रिश्तेदारों के अलावा शादी की वजह से बने रिश्तेदारों और जीवन संगिनी को विधायक के कर्मचारी वाले कोष से नौकरी पर नहीं रख सकते.

बवेरिया में साल 2000 से विधायकों को अपने निकट रिश्तेदारों को करदाताओं के पैसे से काम पर रखने की अनुमति नहीं है. लेकिन जो लोग उससे पहले काम कर रहे थे उनके लिए अपवाद रखा गया है. इस अपवाद का इस्तेमाल इस बीच सिर्फ सीएसयू के विधायक कर रहे हैं. इस अंतरिम नियम का लाभ उठाने वालों में मुख्यमंत्री हॉर्स्ट जेहोफर की वर्तमान सरकार के कई मंत्री और राज्य मंत्री हैं.

CSU-Vorsitzender und bayerischer Ministerpräsident Horst Seehofer

मुश्किल में जेहोफर

क्रिस्टियान ऊडे ने सरकार के संकट की बात की है तो एसपीडी के अध्यक्ष फ्लोरियान प्रोनोल्ड ने जेहोफर की सरकार पर बाहरी निगरानी की मांग की है. उन्होंने कहा, "भले ही उन्होंने नियम नहीं तोड़े हों, बहुत साफ है कि इतने सारे सीएसयू मंत्रियों ने बिना किसी शर्म के अपने रिश्तेदारों  को नौकरी दी है." सरकार में शामिल लिबरल पार्टी की युवा शाखा के प्रमुख लासे बेकर ने कहा, "करदाता विधायकों के परिवारों को भी खिला रहे है, यह माफ नहीं करने लायक स्थिति है, इसका नतीजा निकलना चाहिए."

इसके विपरीत सीएसयू के महासचिव अलेक्जांडर डोब्रिंट ने इस्तीफे की मांगों को चुनार प्रचार बताया है. उन्होंने कहा कि ऊडे को इस कांड में एसपीडी विधायकों के लिप्त होने को नजरअंदाज करने में सफलता नहीं मिलेगी. पार्टी के विधायक दल की नई नेता क्रिस्टा श्टीवेंस ने विधायकों की व्यापक भर्त्सना के खिलाफ चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि विधायकों और उनके परिवार के सदस्यों की उपलब्धियों को बदनाम नहीं किया जाना चाहिए.

एमजे/एनआर (डीपीए, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री