1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बलात्कारियों के बचाव में मुलायम

समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने बलात्कार को लड़कों की मामूली गलती बताते हुए फांसी की सजा का विरोध किया है. चुनावी रैली में मुलायम ने यह तक कह दिया कि वो जीते तो बलात्कार के दोषियों को कड़ी सजा से बचाएंगे.

बीजेपी और बीएसपी लगातार मुलायम सिंह यादव और उनकी समाजवादी पार्टी पर उत्तर प्रदेश में "गुंडाराज" का आरोप लगाते रहे हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान भी दोनों पार्टियां "गुंडाराज से मुक्ति" का नारा दे रही हैं. मुलायम अब तक इन आरोपों को मनगढ़ंत बताते रहे लेकिन गुरुवार को एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए एसपी प्रमुख ने कुछ ऐसा कह दिया कि वो घिर गए.

मुरादाबाद में जनसभा को संबोधित करते हुए मुलायम ने कहा, "क्या बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा देनी चाहिए? वे लड़के हैं, वो गलतियां करते हैं." एसपी प्रमुख मुंबई की शक्ति मिल में दो महिलाओं से सामूहिक बलात्कार करने वाले दोषियों की चर्चा कर रहे थे. दोषियों ने एक टेलीफोन ऑपरेटर और एक महिला फोटो पत्रकार से सामूहिक बलात्कार किया. मुंबई की अदालत ने दोनों मामलों में दोषी तीन युवकों को मौत की सजा सुनाई है.

मुलायम सिंह ने मामले को मनगढ़ंत बताने की कोशिश की. मुलायम के मुताबिक, "लड़कों और लड़कियों के बीच बाद में मतभेद हो गए और लड़की ने अपनी शिकायत में कह दिया कि उससे बलात्कार हुआ. उसके बाद गरीब लड़के, उनमें से तीन को फांसी की सजा दी गई. क्या बलात्कार के मामले फांसी तक जाने चाहिए?"

भारत में बीते कुछ सालों में महिलाओं के खिलाफ बर्बर यौन अपराध के कई मामले सामने आए. इसके बाद देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अभूतपूर्व बहस छिड़ी. यौन अपराधों से जुड़े कानून कड़े किए गए. लेकिन मुलायम की साइकिल समाज सुधार की इस धारा के खिलाफ चलाती दिख रही है. पार्टी के घोषणापत्र में कहा गया है कि वो यौन अपराध कानून के दुरुपयोग की समीक्षा करेगी. मुलायम सिंह यादव ने कहा, "हम ऐसे कानून को बदलने की कोशिश करेंगे. हम उन लोगों को सजा दिलाने की कोशिश करेंगे जो झूठे केस दर्ज कराते हैं."

मुलायम सिंह यादव के खिलाफ चुनाव आयोग और राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई है.

ओएसजे/एजेए (वार्ता)

संबंधित सामग्री