1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बर्फ में ढंक गया यूरोप

यूरोप के कई देश बर्फ की आगोश में हैं. भारी बर्फबारी से ब्रिटेन और फ्रांस जैसी देशों में हवाई सेवाएं चरमरा गई है. चौबीसों घंटे बर्फ साफ करने के बावजूद जिंदगी की रफ्तार हल्की पड़ चुकी है.

लंदन का हीथ्रो एयरपोर्ट यूरोप का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है. सामान्य दिनों में हर दिन 1,300 विमान यहां आते जाते हैं. लेकिन बर्फबारी और खराब मौसम की वजह से सोमवार को इसे 10 फीसदी उड़ानें रद्द करनी पड़ीं. इसने रविवार को ही अपनी सेवाएं एक चौथाई कम कर दी थीं. अधिकारियों ने कहा है कि आने वाले दिनों में भी स्थिति बदलने वाली नहीं.

रविवार को 250 से ज्यादा उड़ानें रद्द हुईं. एयरपोर्ट पर लगातार बर्फ हटाया जा रहा है. ताजा बर्फबारी ने हालात सुधरने नहीं दिए. ब्रिटेन में ट्रेन सेवाएं भी बुरी तरह प्रभावित हुई हैं. सैकड़ों स्कूलों को बंद कर दिया गया है. हीथ्रो ने सर्दी के दौरान कामकाज सामान्य रूप से करने के लिए पिछले तीन साल में उपकरणों पर साढ़े तीन करोड़ पाउंड खर्च किए हैं लेकिन उनका असर होता नहीं दिख रहा है. हवाई अड्डे के पास बर्फ साफ करने वाली 130 गाड़ियां हैं.

लंदन के स्टैनस्टेड और गैटविक जैसे छोटे एयरपोर्टों का दावा है कि वह सामान्य तौर पर काम कर रहे हैं लेकिन वहां भी फ्लाइट लेट से चल रही हैं.

जर्मनी के सबसे व्यस्त हवाई अड्डे की हालत भी ऐसी ही है. रविवार को फ्रैंकफर्ट एयरपोर्ट को 445 फ्लाइटें रद्द करनी पड़ीं. इसके बाद रात में फिर बर्फ गिरने से सोमवार को 203 उड़ानें रद्द कर दी गईं. रनवे पर काफी फिसलन है. इसके अलावा उड़ान भरने से पहले हर रनवे की बर्फ को पूरी तरह हटाना और विमान की डी-आइसिंग करने में भी खासा वक्त लग रहा है.

बुरा हाल पेरिस के चार्ल्स द गॉल एयरपोर्ट का भी है. रविवार को पेरिस के दोनों एयरपोर्टों से 40 फीसदी उड़ानें रद्द करनी पड़ीं. लगातार गिरती बर्फ की वजह से रनवे पर बहुत फिसलन होने लगी है.

पेरिस में ट्रेनों का भी बुरा हाल है. साइन नदी के किनारे एक ट्रेन रास्ते में फंस गई, जिसमें 100 मुसाफिर सवार थे. उन्हें निकालने के लिए आपात सेवा की मदद लेनी पड़ी. ट्रेनें आम तौर पर 40 मिनट देर से चल रही हैं.

ओएसजे/एजेए (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links