1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बर्फ का बादशाह हिर्शर

बर्फ के मैदान में बलखाते, लहराते स्कीइंग के नजारे देखना एक बात है, यहां चैंपियनशिप में हिस्सा लेकर सोने का पदक जीतना कुछ और. ऑस्ट्रिया के मार्सेल हिर्शर दूसरी कला में माहिर हैं. उन्होंने जाएंट स्लालोम प्रतियोगिता जीत ली.

यूरोप में आल्प्स की पहाड़ियों में वाल्डिसेरा के पास चल रहे वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रियाई स्कीइर 23 साल के हिर्शर के आस पास भी कोई प्रतिद्वंद्वी नहीं पहुंच पाया और उन्होंने पिछले दो सीजन में अपना दसवां विश्व कप विजय हासिल किया. इतने समय में किसी भी पुरुष प्रतियोगी ने छह से ज्यादा खिताब नहीं जीते हैं.

जर्मनी के श्टेफान लुइट्स मामूली अंतर के साथ दूसरे नंबर पर रहे, जबकि जाएंट स्लालोम के इस मुकाबले में अमेरिका के टेड लिगेटी को तीसरे नंबर से ही संतोष करना पड़ा.

कौन हैं हिर्शर

ऑस्ट्रियाई खिलाड़ी पर हाल के दिनों में सवाल उठने लगे थे. लेकिन उन्होंने जीत के साथ इसका जवाब दिया. हिर्शर का कहना है, "यह सीजन की एक शानदार शुरुआत है. इससे पहले लोग पूछ रहे थे कि क्या हो रहा है, मैं दूसरे नंबर पर क्यों आ रहा हूं. लेकिन पहले नंबर पर आकर मैंने इन सवालों को बंद कर दिया."

हिर्शर ने 2007 में कम उम्र में ही बर्फ पर स्कीइंग के खेल की शुरुआत की और शुरू में ही उनका जलवा चल निकला. उन्होंने वर्ल्ड कप में छह स्लालोम और छह जाएंट स्लालोम प्रतियोगिता जीती है. वह कुल 31 बार पोडियम पर चढ़ चुके हैं. हालांकि दो साल पहले विंटर ओलंपिक में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा था और उन्हें जाएंट स्लालोम में चौथे और स्लालोम में पांचवें नंबर पर संतोष करना पड़ा. इसके बाद उनके टखने की हड्डी टूट गई और उन्हें 2011 का सीजन तय वक्त से पहले ही खत्म करना पड़ा. लेकिन इस जीत के साथ उन्होंने सवालों पर भी विराम लगा दिया.

स्लालोम और जाएंट स्लालोम

आल्प्स की बर्फीली पहाड़ियों में स्की रेस अलग अलग तरह की होती है. स्लालोम में झंडे लगाकर एक गेट जैसा बनाया जाता है और रेसर को अपनी छड़ी से इस झंडे को छूते हुए आगे बढ़ना होता है. स्लालोम में दो झंडे की दूरी बहुत कम होती है, जबकि जाएंट स्लालोम में लाल और नीले रंग के झंडे अपेक्षाकृत लंबी दूरी पर लगाए जाते हैं. पुरुषों को इस प्रतियोगिता में 55 से 75 गेट के बीच से निकलना होता है, जबकि महिलाओं को 40 से 60 गेटों के बीच से.

एजेए/एएम (एएफपी)

DW.COM