बढ़ रहे हैं मोबाइल गेम के दीवाने | मनोरंजन | DW | 20.08.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बढ़ रहे हैं मोबाइल गेम के दीवाने

कोलोन दुनिया का सबसे बड़ा खेल मैदान बन गया है. यहां इंटरएक्टिव मनोरंजन का सबसे बड़ा व्यापार मेला लगा है. उसमें इतनी सारी नई खोजें दिखाई जा रही हैं कि गेम खेलने वालों की सारी मुरादें पूरी हो जाने की उम्मीद है.

गेम्सकॉम के टिकट धड़ल्ले से बिक रहे हैं. 25 अगस्त तक चलने वाले मेले में 80 देशों से करीब पौने तीन लाख लोग आ रहे हैं. उनमें करीब 25,000 गेमिंग उद्योग से जुड़े लोग होंगे. इस मेले के पांच साल के इतिहास में पहली बार प्रदर्शनी के लिए 140,000 वर्गमीटर में फैले हॉल पूरी तरह बुक हैं. कोलोन मेले के प्रमुख गेराल्ड बोए कहते हैं, "मेले में 40 देशों के 635 कंपनियां आ रही हैं जो 400 से ज्यादा नए उत्पाद दिखाएंगे."

400 नई चीजों में पिछले साल के मुकाबले 20 फीसदी ज्यादा नए गेम शामिल हैं. इनसे उद्योग को अपने कारोबार में तेज वृद्धि की उम्मीद है और इसकी उसे बहुत जरूरत है, क्योंकि 2013 की पहली छमाही में कारोबार उम्मीद के मुकाबले बेहद खराब रहा है. खासकर पीसी और वीडियो गेम के मामले में टर्नओवर में 3.5 प्रतिशत की कमी आई. कारोबार पर नजर रखने वाले जानकार इसकी वजह गेम कंसोल की पीढ़ी में बदलाव को देखते हैं.जब तक नया हार्डवेयर बाजार में नहीं आ जाता तब तक वे नए गेम खरीदना नहीं चाहते. इस साल तीन नए कंसोल बाजार में आ रहे हैं और उनके साथ कई सारे नए गेम भी.

दोगुनी होगी बिक्री

डिजिटल एंटरटेनमेंट के बाजार के दो हिस्से हैं. एक में पीसी, कंसोल या मोबाइल उपकरणों के लिए गेम्स हैं. इन्हें या तो दुकानों में खरीदा जाता है या फीस देकर टैबलेट या स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया जाता है. इसके अलावा इंटरनेट पर भी अब गेम खेलने वालों की तादाद बहुत बढ़ गई है. ऑनलाइन गेम मुफ्त हैं या फिर कुछ के लिए सदस्यता फीस देनी पड़ती है.

इंटरएक्टिव इंटरटेनमेंट कंपनियों के संघ के प्रमुख माक्सिमिलियान शेंक कहते हैं, "मुख्य रूप से हम कंसोल, पीसी या स्मार्टफोनों के लिए गेमों की बिक्री में तेजी की उम्मीद कर रहे हैं." 2013 की पहली छमाही में करीब 3.44 करोड़ गेम बिके हैं, नए गेमों के आने से इस साल के अंत तक 7.65 करोड़ गेमों के बिकने की उम्मीद की जा रही है.

स्थिर जर्मन बाजार

उद्योग का उत्साह सिर्फ बहुत सारे नए गेमों के आने की वजह से नहीं बढ़ रहा है. आईटी उद्यमों के संघ बिटकॉम के अनुसार जर्मनी में 2.5 करोड़ लोग कम्प्यूटर गेमों का इस्तेमाल करते हैं. बीआईयू के अनुसार स्मार्टफोन और टैबलेट पर गेम खेलने वालों की तादाद बढ़ रही है. इस सेगमेंट में बिक्री 20 प्रतिशत तक तेज हुई है.

2013 में जर्मनी में इस उद्योग का टर्नओवर 1.9 अरब यूरो तक पहुंचने की उम्मीद है. शेंक कहते हैं, "घरेलू बाजार बहुत ही मजबूत है." पिछले सालों में जर्मन बाजार कम्प्यूटर गेम्स के मामले में सबसे अधिक बिक्री वाला पांचवा देश बन गया है. पहले नंबर पर अभी भी अमेरिका है जिसने 14 अरब डॉलर की बिक्री के साथ जापान, दक्षिण कोरिया और ब्रिटेन को काफी पीछे छोड़ रखा है. जर्मनी फ्रांस के साथ पांचवे नंबर पर है.

रिपोर्टः कारोलीना माखहाउस/एमजे

संपादन: निखिल रंजन

DW.COM