1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बढ़त को बढ़ाकर 4-0 करना चाहता है भारत

न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत को अजेय बढत मिल चुकी है लेकिन बैंगलोर में होने वाले चौथे वनडे के लिए भारतीय टीम कोई कोताही नहीं बरतना चाहती. भारत 4-0 की बढ़त के साथ अपनी जीत का सिलसिला बरकरार रखना चाहता है.

default

चौथा वनडे मंगलवार को बैंगलोर में खेला जाएगा. भारत इस सीरीज में न्यूजीलैंड का सूपड़ा साफ करना चाहता है. स्टार खिलाड़ियों के बगैर खेल रही टीम इंडिया ने हर क्षेत्र में न्यूजीलैंड को पछाड़ दिया है. वैसे भी न्यूजीलैंड अपनी फॉर्म में नहीं है और भारत दौरे से पहले उसे बांग्लादेश ने 4-0 से पटखनी दी थी.

Der indische Cricketspieler Yuvraj Singh

कप्तान गंभीर के अलावा विराट कोहली और मुरली विजय अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं जबकि तेज गेंदबाजी की जिम्मेदारी जहीर खान संभाल रहे हैं. युवा ऑफ स्पिनर आर अश्विन भी प्रभावित करने में सफल रहे हैं और उन्होंने रन आसानी से नहीं दिए हैं.

कीवी कप्तान डेनियल वेटोरी के लिए सीरीज का सम्माजनक समापन मुश्किल दिखाई देता है और इसके लिए उन्हें नई रणनीति बनानी होगी. सबसे पहली कोशिश तो खोया आत्मविश्वास वापस पाने की होगी क्योंकि लगातार तीन हारों से उसका विश्वास डिगा हुआ है.

बल्लेबाजी में मार्टिन गुप्तिल और ब्रैंडन मैक्कुलम को अच्छी शुरुआत देनी होगी और रनों का सिलसिला आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी रॉस टेलर और स्कॉट स्टायरिस पर होगी.

महेंद्र सिंह धोनी के स्थान पर कप्तानी कर रहे गौतम गंभीर ने अपने प्रदर्शन से प्रशंसकों का दिल खुश कर दिया है. आगे बढ़ कर टीम का नेतृत्व कर रहे गंभीर ने लगातार दो मैचों में शतक जड़े हैं और मेहमान टीम के लिए यह सीरीज कड़वी याद बना दी है और अभी तक कीवियों ने इतनी बुरी तरह से हार नहीं झेली है.

भारतीय टीम की जीत इसलिए भी मायने रखती है क्योंकि अधिकतर स्टार खिलाड़ी टीम में नहीं हैं और आराम फरमा रहे हैं. महेंद्र सिंह धोनी, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, सुरेश रैना और हरभजन सिंह की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन से वर्ल्ड कप में अपने दावे को मजबूती से पेश किया है.

विराट कोहली, मुरली विजय और सौरभ तिवारी जैसे युवा खिलाड़ियों ने जिस तरह का खेल दिखाया है उससे भारत की दूसरी पंक्ति की क्षमता का अहसास होता है और धोनी निश्चित रूप से खुश होंगे. दो महीने बाद ही भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश संयुक्त रूप से विश्व कप का आयोजन कर रहे हैं और घरेलू पिचों पर भारत को बड़े आयोजन से पहले अच्छा अभ्यास मिल रहा है.

राष्ट्रीय चयन पैनल के चेयरमैन के श्रीकांत ने कहा है कि युवा खिलाड़ियो ने बढ़िया प्रदर्शन किया है और ऐसा लगता है कि वर्ल्ड कप के लिए टीम की तैयारियां सही रास्ते पर हैं. "युवा खिलाड़ियों ने साबित कर दिया है कि टीम की बेंच स्ट्रेंथ अच्छी है. वर्ल्ड कप तक हमारे लिए जीत का सिलसिला बनाए रखना जरूरी है. मुझे विश्वास है कि टीम अपनी क्षमता के अनुरूप खेलेगी."

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM