1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

बच्चों के लिए गूगल लॉग इन पर विचार

बच्चों को फेसबुक तथा अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर लॉग इन की अनुमति देने या नहीं देने पर लंबे अर्से से बहस हो रही है. अब गूगल 13 साल के कम उम्र के बच्चों को ऑनलाइन अकाउंट देने की दिशा में काम कर रहा है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल 13 साल के कम उम्र के बच्चों को भी ऑनलाइन लॉग इन की सुविधा देने पर काम कर रहा है. हालांकि गूगल की सेवाओं का नियंत्रण बच्चों के अभिभावकों के पास होगा. वीडियो शेयरिंग साइट यू ट्यूब पर बच्चों के लिए खास संस्करण पर काम किया जा रहा है. इसी तरह से जीमेल सेवाओं को भी बच्चों के अनुकूल बनाने की तैयारी हो रही है. गूगल में हो रहे ताजा बदलाव पर जानकारी रखने वाले एक शख्स के हवाले से फाइनेंशियल टाइम्स ने यह खबर छापी है. इंटरनेट कंपनियां गूगल और फेसबुक 13 साल के कम उम्र के बच्चों को अपनी सेवाएं नहीं देती हैं. लेकिन ऐसे भी यूजर हैं जो गलत जानकारी देकर इन सेवाओं के लिए लॉग इन करते हैं.

अमेरिकी कानून बच्चों के ऑनलाइन प्राइवेसी प्रोटेक्शन एक्ट के तहत 13 साल के कम उम्र के बच्चों की जानकारी इकट्ठा और इस्तेमाल करने पर सख्त पाबंदी है.

गूगल की कोशिश आंशिक रूप से इस तथ्य से प्रेरित है कि कुछ माता पिता पहले से ही अपने बच्चों के लिए खाता बनाने की कोशिश कर रहे हैं. कंपनी चाहती है कि यह प्रक्रिया आसान हो और कानून का पालन किया जा सके.

मां बाप का झूठ

कुछ महीने पहले द एसोचैम सोशल डेवलपमेंट फाउंडेशन (एएसडीएफ) ने दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बैंगलूर, अहमदाबाद, पुणे, लखनऊ और देहरादून जैसे देश के प्रमुख शहरों में ऐसे चार हजार से ज्यादा माता पिता से बातचीत की थी जिनके बच्चों की उम्र आठ से 13 साल के बीच है. इनमें से 75 फीसदी लोगों को पता था कि उनके बच्चे सोशल नेटवर्किंग साइटों पर सक्रिय हैं. ऐसे माता-पिता ने ही शुरूआत में बच्चों को अपनी उम्र बढ़ा कर बताने की अनुमति दी थी. लगभग 82 फीसदी लोगों ने तो खुद ही अपने बच्चों का खाता खोला. सर्वेक्षण में शामिल ज्यादातर लोगों का मानना था कि फेसबुक जैसी साइटों पर खाता खोलने के लिए एक न्यूनतम उम्र जरूरी है. लेकिन 78 फीसदी लोग मानते हैं कि स्कूली गतिविधियों की वजह से बच्चों की उम्र कम होने के बावजूद उनको फेसबुक पर खाता खोलने की अनुमित देने में कोई बुराई नहीं है. सर्वेक्षण में कहा गया है कि कम उम्र में ऐसी साइटों पर खाता खोलने की स्थिति में बच्चों को फायदे से ज्यादा नुकसान हो सकता है. वह साइबर धमकी और ब्लैकमेलिंग के शिकार हो सकते हैं.

एए/एएम (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री