1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बच्चों और मां में बढ़ता उम्र का फासला

मां बनने की सही उम्र क्या है? इटली की रॉक स्टार जाना नानिनी ने 54 की उम्र में एक बच्ची को जन्म दे कर इसे चर्चा का विषय बना दिया है.

default

ज़्यादातर लोग मानते हैं कि यदि पहला बच्चा 25 की उम्र के आस पास हो तो यह जच्चा और बच्चा दोनों के लिए अच्छा रहता है. इसके बाद जितनी उम्र बढ़ जाए उतना ही सेहत के लिए खराब हो सकता है. लेकिन आज के मॉडर्न ज़माने में जहां औरतों को पारिवारिक जीवन के साथ साथ करियर के बारे में भी सोचना पड़ता है वहां यह उम्र बढती ही जा रही है. पश्चिमी देशों में जहां महिलाएं 35 से 40 के बीच पहले बच्चे के बारे में सोचती हैं, वहीं भारत में भी ऑफिस जाने वाली महिलाएं पहला बच्चा प्लान करते करते तीस के करीब पहुंच जाती हैं.

जाना नानिनी 54 में बनी मां

Gianna Nannini

इटली की रॉक स्टार जाना नानिनी

हाल ही में इटली की रॉक स्टार जाना नानिनी ने 54 की उम्र में बच्ची को जन्म दिया. जाना इटली की प्रसिद्ध गायिका हैं और एक रोल मॉडल के रूप में देखी जाती हैं. केवल इटली ही नहीं, उनके संगीत का जादू जर्मनी, स्विट्जरलैंड और ऑस्ट्रिया में भी सिर चढ़ कर बोलता है. 'फोटोरोमान्जा' का के लिए उन्हें कई अवॉर्ड मिल चुके हैं. 1990 के फुटबॉल वर्ल्ड कप का ऑफिशियल सॉन्ग भी इन्होंने ही गया था. लोकप्रिय हस्ती होने के कारण उनका 54 की उम्र में मां बनना चर्चा का विषय बन गया है. जाना का कहना है कि उन्होंने गर्भधारण के लिए किसी भी तरह की डॉक्टरी सहायता नहीं ली और वे और उनकी बेटी दोनों ही तंदुरुस्त हैं. भोपाल की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉक्टर सरिता अग्रवाल का कहना है कि कभी कबार मिनोपॉज होने के बाद भी सामान्य रूप से गर्भधारण हो जाता है. "ऐसा नहीं है कि स्वस्थ बच्चा हो ही नहीं सकता, लेकिन ज्यादा संभावना इसी की बनी रहती है कि बच्चा अस्वस्थ पैदा होगा."

आईवीएफ का बढता चलन

Deutschland Medizin künstliche Befruchtung IVF

भारत में बढ़ रहा है आईवीएफ का चलन

भारत में कई महिलाएं मां बनने के लिए आईवीएफ की मदद लेती है. वैसे कम ही लोग यह जानते होंगे कि दुनिया की सबसे ज्यादा उम्र में मां बनने वाली महिला भारत की ही हैं. दो साल पहले हरयाणा की रज्जो देवी लोहन ने आईवीएफ की मदद से एक बच्ची को जन्म दिया. वो उस समय 70 साल की थीं. उनके बाद वहीं की भटेरी देवी ने 66 की उम्र में तीन बच्चों को जन्म दिया. हालांकि इन दोनों महिलायों को करियर की नहीं बल्कि शादी के इतने साल हो जाने के बाद भी कोई वारिस ना होने की चिंता ने इतनी उम्र में मां बनाया, लेकिन अब इन दोनों की ही हालत नाजुक है. डॉक्टर अग्रवाल का मानना है कि केवल मां ही नहीं यह बच्चे के लिए भी ठीक नहीं है. "गर्भधारण जितना देर से होगा उतना ही क्रोमोसोम डीफॉर्मिटी की संभावना उतनी ही ज़्यादा बढ़ जाती है. इसीलिए 70 की उम्र में मां बनना बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है."

यानी ज्यादा उम्र में मां बनना अपने और बच्चे दोनों की जान जोखिम में डालने जैसा है. हालांकि दूसरे या तीसरे बच्चे के लिए 40-45 की उम्र सामान्य है. अब सवाल उठता है कि जहां यूरोप में इस उम्र में महिलाएं करियर की चिंताओं से मुक्त हो कर बच्चा प्लान करती हैं, वहां जाना नानिनी का 54 में मां बनना किस तरह का उदाहरण बनेगा. अगर बूढ़े हो कर भी मां ना बन पाने से एक औरत को बच्चे की कमी खलती है तो क्या बूढ़ी मां से बचपन में ही साथ छूट जाने से बच्चे को मां की कमी नहीं खलेगी..

रिपोर्ट: ईशा भाटिया

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links