1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

बच्ची को फेंकने के आरोप में मां गिरफ्तार

मुंबई में जुड़वां बच्चों को जन्म देने वाली एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है क्योंकि उस पर अपने एक बच्चे को अस्पताल की खिड़की से फेंक देने का आरोप है. महिला ने बेटी और बेटे को जन्म दिया जिसमें लड़की को फेंका गया.

default

बेटियों की चाह नहीं!

पुलिस ने बताया कि मंगलवार को केईएम अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर के बाथरूम से इस बच्ची को फेंका गया. पता चलने पर बच्ची को तुरंत अस्पताल में लाया गया लेकिन सिर में गंभीर चोट की वजह से बाद में उसकी मौत हो गई. पहले इस महिला ने दावा कि बच्ची चोरी हो गई है लेकिन सीसीटीवी की फुटेज के मुताबिक उसे बच्ची को बाथरूम में ले जाते दिखाया गया, लेकिन जब वह बाहर आई तो अकेली थी.

बच्ची को फेंकने के आरोप में पुलिस ने महिला को हिरासत में लिया है. भारतीय अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने पुलिस इंस्पेक्टर विक्रम पाटिल के हवाले से कहा है कि इस महिला पर हत्या जैसे गंभीर आरोप भी लगाए जा सकते हैं.

केईएम अस्पताल के डीन संजय ओक ने कहा, "हम नहीं जानते कि इस महिला ने ऐसा कदम क्यों उठाया." उधर भारतीय मीडिया की खबरों के मुताबिक इस महिला को एक बेटा और एक बेटी पैदा हुए. गर्भ के साढ़े सात महीने बाद ही ये बच्चे पैदा हो गए और उनका वजन काफी कम था.

मानवाधिकार समूह काफी समय से कन्या भ्रूण हत्या के मामलों के उठाते रहे हैं. खास कर ग्रामीण इलाकों में यह समस्या और भी गंभीर है. भारत में लड़कियों के मुकाबले लड़कों को पारंपरिक रूप से प्राथमिकता दी जाती है.

लेकिन इस महिला के पति का कहना है, "हम जुड़वां बच्चों के साथ खुश थे. हमें लड़की से कोई दिक्कत नहीं थी."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links