1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

बगदाद में आत्मघाती हमला, 47 की मौत

इराकी राजधानी बगदाद में एक आत्मघाती हमले में 47 लोगों के मारे जाने की खबर है. अधिकारियों के मुताबिक एक आत्मघाती हमलावर ने सेना भर्ती केंद्र के सामने खुद को उड़ा दिया. हमले में 77 लोग घायल भी बताए जाते हैं.

default

इराक के स्वास्थ्य उप मंत्री खामिस अल साद ने बताया कि धमाके में 47 लोग मारे गए हैं. हमले में 77 लोग घायल भी हुए हैं. कुछ पुलिस और सैन्य सूत्र कह रहे हैं कि मृतकों की संख्या 52 तक हो सकती है और 120 लोग घायल हो सकते हैं.

सेना में भर्ती होने के लिए पहुंचे सालेह अजीज ने कहा, "हम लोग लंबी लाइन में लगे थे. वहां पर अधिकारी और सैनिक मौजूद थे. तभी अचानक एक धमाका हुआ. खुदा का शुक्र है कि सिर्फ मेरा हाथ ही घायल हुआ."

यह हाल के हफ्तों में होने वाले सबसे खतरनाक धमाकों में से एक है. लगभग साढ़े पांच महीने पहले हुए चुनावों के बाद देश में राजनीतिक तनाव कम हुआ है. इसी महीने वहां अमेरिकी सैन्य अभियान खत्म हो रहा है. ऐसे में यह हमला सुरक्षा की नाजुक हालत की तरफ इशारा करता है.

मंगलवार को ये आत्मघाती हमला उस जगह पर हुआ, जिसे सद्दाम हुसैन के शासन में रक्षा मंत्रालय के तौर पर इस्तेमाल किया जाता था. लेकिन 2003 में अमेरिकी हमले के बाद इसे सेना भर्ती केंद्र और सैन्य ठिकाने में तब्दील कर दिया गया.

एक सूत्र ने बताया कि सेना में भर्ती होने के लिए बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे, तभी वहां जोरदार धमाका हुआ. इराक में 2006-07 में हिंसा अपने चरम पर थी. खासकर शिया और सुन्नी हिंसा ने सुरक्षा की स्थिति को और बिगाड़ दिया था. लेकिन तब से हिंसा में काफी कमी आई है. वैसे कुछ जिद्दी उग्रवादी तत्व अब भी आत्मघाती हमले करने में सक्षम हैं.

इराकी और अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि उग्रवादी राजनीतिक तनाव को भड़का कर फायदा उठाना चाहते हैं. खास कर चुनावों के बाद मामूली बहुमत से जीत हासिल करने वाले सुन्नियों के समर्थन वाले गठजोड़ और शिया राजनीतिक धड़ों के बीच साझा सरकार के लिए बातचीत अब तक नाकाम रही है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links