1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फ्रांस: हमलावरों को पकड़ने की मुहिम जारी

पेरिस पुलिस ने उस इमारत को घेर लिया है जहां शार्ली एब्दॉ के दफ्तर के संदिग्ध हमलावर छुपे हुए हैं. प्रधानमंत्री ने कहा फ्रांस की लड़ाई 'आतंकवाद' के खिलाफ है 'धर्म' के खिलाफ नहीं.

पेरिस में व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्दॉ के कार्यालय के दो प्रमुख हमलावरों को पकड़ने की मुहिम जारी है. पुलिस के मुताबिक बंदूकधारी एक इमारत में छुपे हुए हैं. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक उन्हें लगभग भरोसा है कि ये हमलावर ही हैं. यह पेरिस के शार्ल द गॉल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास का इलाका है. सूत्रों के मुताबिक इस बात कि पुष्टि नहीं हुई है कि अंदर और कितने लोग हैं. सुरक्षा ऑपरेशन में लगा दल गुरुवार से पेरिस के उत्तर पूर्वी इलाके में उनकी खोज कर रहा था जहां उनके देखे जाने की खबरें मिलीं. एक स्थानीय महिला का कहना है कि उसने शरीफ और सईद कोआची को पहचाना.

सरकारी वकील ने शुक्रवार को फायरिंग में एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर का खंडन किया है. इससे पहले शहर से 40 किलोमीटर दूर उत्तर पूर्वी औद्योगिक इलाके में दो संदिग्ध व्यक्तियों का पीछा करते हुए पुलिस ने गोली चलाई. पुलिस के मुताबिक वे हथियारबंद हैं. इसके बाद आरटीएल रेडियो ने एक व्यक्ति के मारे जाने और कई लोगों के घायल होने की बात कही थी. गृह मंत्री बर्नार्ड कासानेव ने कहा था कि पुलिस दो संदिग्धों का पीछा कर रही है. गृह मंत्रालय ने फायरिंग में किसी के घायल होने की पुष्टि नहीं की है.

शार्ली एब्दॉ के संपादकीय कार्यालय में घुसकर 12 लोगों की जान लेने वाले तीन हमलावरों में से एक ने गुरुवार को आत्मसमर्पण कर दिया था. बाकी दो की तलाश में 88,000 पुलिसकर्मी और मिलिटरी सैनिक लगे हैं. यमन के एक वरिष्ठ खुफिया अधिकारी ने रॉयटर्स को बताया कि संदिग्ध व्यक्ति सईद 2011 में अलकायदा के नेता अनवर अल अवलकी से मिला था और उसने मिलिटरी ट्रेनिंग में भी हिस्सा लिया था.

फ्रांसीसी प्रधानमंत्री मानुएल वाल्स ने कहा, "हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं. हमारी लड़ाई किसी धर्म या सभ्यता के खिलाफ नहीं है." शार्ली एब्दॉ के दफ्तर में हमले के बाद गुरुवार सुबह मॉरूज में हुई फायरिंग में एक महिला पुलिस अफसर की मौत हो गई थी और एक सफाईकर्मी घायल हो गया. लेकिन पुलिस ने गुरुवार को हुई फायरिंग और एक दिन पहले शार्ली एब्दॉ पत्रिका के दफ्तर पर हमले के बीच कोई संबंध नहीं बताया है. इस बीच हवाई अड्डे को जाने वाले दो उत्तरी रास्ते बंद कर दिए गए हैं.

एसएफ/एमजे (रॉयटर्स, एएफपी, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री