1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फ्रांस में बल्ले बल्ले बेकहम

आमतौर पर फ्रांस के लोग इंग्लैंड को बहुत ज्यादा पसंद नहीं करते, लेकिन इस वक्त फिजा बदल सी है. इंग्लैंड के फुटबॉल स्टार डेविड बेकहम के फ्रांसीसी क्लब से जुड़ते ही फ्रांस में इंग्लिश खिलाड़ी की महानता के चर्चे हो रहे हैं.

राजधानी पैरिस के मेयर के कहते हैं कि इंग्लैंड के पूर्व कप्तान के आने से शहर में चार चांद लग गए हैं. कहते हैं अब हमारे पास आईफल टावर है, नोत्रेदाम कैथीड्रल है और डेविड बेकहम हैं. यूरोप वन रेडियो से बातचीत करते हुए शहर के मेयर बेर्ट्रां डेलानो ने कहा, "यह बहुत शानदार खबर है, इससे दुनिया में पैरिस की छवि पर एक चीज और जुड़ गई है. वह एक महान खिलाड़ी हैं, जिनका अपना अंतरराष्ट्रीय दर्शक वर्ग है."

37 साल के बेकहम पैरिस के क्लब पारी से जर्मे (पीजीएस) के साथ जुड़े हैं. लॉस एजेंलिस गैलेक्सी से पीजीएस आए बेकहम का करार पांच महीने का है. क्लब से मिलने वाली पूरी तनख्वाह बेकहम दान करेंगे. पैसा स्थानीय बच्चों को दिया जाएगा. पैरिस में बड़ी संख्या में यूरोप के गरीब देशों से आए लोग रहते हैं. ऐसे समुदायों में गरीबी बड़ी समस्या है, बेकहम उनका हाथ बंटाना चाहते हैं.

पीजीएस की वेबसाइट पर अभी से बेकहम की टीशर्ट बिकने लगी है. कीमत है 100 यूरो यानी करीब 7,000 रुपये. बाजार विश्लेषकों के मुताबिक इन टीशर्टों की बिक्री से क्लब को 1.7 करोड़ यूरो मिलेंगे.

Barack Obama und David Beckham im Weißen Haus Washington

ओबामा के साथ बेकहम

बेकहम के इस कदम की तारीफ फ्रांस और ब्रिटेन के अखबारों ने भी खूब की है. हालांकि एक इंग्लैंड के एक अखबार ने हल्की चुटकी लेते हुए यह भी कहा है, "बेकहम को कुछ पाउंड बचा लेने चाहिए अपनी स्पाइस गर्ल बीवी विक्टोरिया के पैरिस में शॉपिंग करने के लिए."

पीजीएस को करीब दो साल पहले ही कतर के कारोबारियों ने खरीदा. कतर के कारोबारियों ने खस्ताहाल क्लब में 20 करोड़ यूरो खर्च किए. स्वीडन के स्टार स्ट्राइकर ज्लाटान इब्राहिमोविच, अर्जेंटीना के स्टार खावियर पासतोरे, इजेक्विल लावेजी, ब्राजील के थियागो सिल्वा और अलेक्स को पीजीएस में लाया गया. इब्राहिमोविच को तो क्लब ने दो करोड़ डॉलर की ट्रांसफर फीस देकर मिलान से अपने यहां बुलाया.यह फुटबॉल इतिहास में यह सबसे महंगा ट्रांसफर रहा.

पीजीएस फिलहाल चैंपियंस लीग की अंतिम 16 टीमों में जगह बना चुका है. टीम ग्रुप ए में शीर्ष पर है. अब देखना है कि पांच महीने के भीतर बनाना किक वाले बेकहम पीजीएस को कहां पहुंचाते हैं. बेकहम के आने से टीम कागजों और ज्यादा मजबूत लगने लगी है.

ओएसजे/एएम (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links