1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फोली के हत्यारे की पहचान की कोशिश

पत्रकार जेम्स फोली की बर्बर हत्या के बाद अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट के खिलाफ हवाई हमले तेज किए. बर्बर हत्या से दुनिया सकते में आई. अंदेशा है कि गला रेतने वाला ब्रिटिश नागरिक हो सकता है.

दुनिया में सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देश इंडोनेशिया ने फोली की हत्या को इस्लाम के लिए शर्मिंदगी करार दिया. इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुशीलो बामबांग युडोयोनो ने दुनिया भर के मुसलमान नेताओं से चरमपंथ के खिलाफ साथ आने की अपील की. उन्होंने कहा, "यह चौंकाने वाला है. यह (आईएस) बेकाबू हो चुका है."

ऐसी रिपोर्टें हैं कि ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस और इंडोनेशिया के कई युवा आईएस के लिए लड़ रहे हैं. युडोयोनो ने कहा, "हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. इंडोनेशिया इस्लामी राष्ट्र नहीं है. हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं."

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने अमेरिकी पत्रकार की गला रेत कर हत्या को निकृष्टतम हरकत कहा, "एक पत्रकार को इस तरह से मारना, एक ऐसे पत्रकार को जिसे दो साल तक कैद रखा जाए और फिर उसकी हत्या का वीडियो इंटरनेट पर डाला जाए, यह बर्बरता है."

Barack Obama Rede

ओबामा ने हत्या की निंदा की

40 साल के फोली की हत्या का वीडियो 19 अगस्त को इंटरनेट पर आया. वीडियो में फोली घुटनों के बल बैठे हैं और उनके बगल में काले लिबास में एक नकाबपोश खड़ा है. नकाबपोश आतंकवादी अमेरिका को हवाई हमलों का अंजाम भुगतने की चेतावनी देता है और फिर फोली का गला रेत देता है.

फ्रीलांस पत्रकार के तौर पर काम करने वाले फोली को दो साल पहले सीरिया से अगवा किया गया था. अमेरिका के मुताबिक फोली को रिहा करवाने के लिए सीरिया में कुछ महीने पहले गुप्त सैन्य कार्रवाई भी की गई. अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने सीरिया में कई दर्जन स्पेशल ऑपरेशन कमांडो भेजे. तयशुदा जगह पर छापा भी मारा गया लेकिन फोली नहीं मिले. ऑपरेशन में कई आतंकवादी मारे गए. अमेरिकी कमांडो जब वापस लौटने लगे तो उनके जहाज पर हमला किया गया जिसमें कुछ अमेरिकी सैनिकों को भी चोटें आई.

फोली की हत्या से अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा बेहद नाराज हैं. ओबामा ने आईएस आतंकवादियों को कैंसर करार दिया है. हत्या का वीडियो सामने आने के अगले दिन अमेरिका आईएस पर हवाई हमले और तेज कर दिए. वहीं ब्रिटेन में फोली की हत्या करने वाले संदिग्ध आतंकवादी के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है. वीडियो में फोली की हत्या करने वाली चेतावनी देने वाला आतंकवादी ब्रिटिश लहजे में अंग्रेजी बोल रहा था.

इंटरनेट के ज्यादातर सर्च इंजनों से फोली की हत्या वाला वीडियो हटा दिया गया है. ब्रिटेन में इस वीडियो को देखने या डाउनलोड करने वाले को आतंकवादी साजिश के तहत गिरफ्तार किया जा सकता है.

इस हत्या से 2002 में अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्याकांड की यादें ताजा हो गईं. कराची से अगवा किए गए पर्ल को अल कायदा ने इसी तरह गला रेत कर मार डाला था और वीडियो इंटरनेट पर डाल दिया. फोली की हत्या के बाद आईएस ने एक और अमेरिकी पुरुष को घुटनों के बल खड़ा दिखाया, जिसकी पहचान पत्रकार स्टीवन सोटलॉफ के तौर पर की गई है. उसने चेतावनी दी है कि अगर इस्लामी स्टेट के खिलाफ कार्रवाई नहीं रोकी गई तो अगला निशाना सोटलॉफ होंगे.

ओएसजे/एजेए (एपी, एएफपी, रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री