1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फोर्स इंडिया में लौटे सुटिल

फॉर्मूला वन के मंझे हुए जर्मन ड्राइवर आद्रियान सुटिल एक बार फिर से भारतीय टीम में लौट आए हैं. विजय माल्या की फोर्स इंडिया ने इस बात की पुष्टि की है कि सुटिल इस सीजन में उनकी कार चलाएंगे.

सुटिल के अलावा पॉल डी रेस्टा भी फोर्स इंडिया के ड्राइवर हैं. सुटिल लंबे समय से फोर्स इंडिया से जुड़े हैं लेकिन पिछले सीजन में वह साथ नहीं थे. रेस्टा और सुटिल 2011 में साथ थे. 30 साल के सुटिल और फोर्स इंडिया के पिछले साल के ड्राइवर जूल्स बियांची के बीच दूसरे ड्राइवर के लिए टक्कर चल रही थी लेकिन टीम ने आखिर में सुटिल को ही लेने का फैसला किया.

सुटिल अब शुक्रवार और शनिवार को टीम की टेस्ट ड्राइव के दौरान टीम में रहेंगे. उन्होंने कहा, "फॉर्मूला वन में आकर मैं खुश हूं. खासकर उस टीम में जिसे मैं सबसे ज्यादा जानता हूं."

इससे पहले बियांची के मैनेजर निकोलास टोड ने कहा, "जूल्स पॉल डी रेस्टा के साथ टीम में नहीं होंगे. यह बहुत दुखद बात है. वैसे तो मैं सच्चाई को समझने वाला हूं लेकिन मुझे उम्मीद थी कि उन्हें इस बार मौका मिलेगा."

बियांची फोर्स इंडिया के लिए रिजर्व में रखे गए ड्राइवर थे. फरारी ने उधर कहा है कि वो बियांची को लेने का विचार कर सकता है. टोड ने कहा कि उनके पास विकल्प कम हैं.

सुटिल का निजी जीवन पिछले दिनों उस वक्त विवाद में आ गया था, जब चीनी ग्रां प्री की रेस के बाद एक नाइट क्लब में उनकी रेनां टीम के मालिक एरिक लक्स से विवाद हो गया था. शैंपेन की गिलास से हुए हादसे के बाद लक्स की गर्दन पर टांके लगाने पड़े. इसके बाद सुटिल को 2000 यूरो का जुर्माना और डेढ़ साल की सजा हुई. हालांकि यह सजा निलंबित है.

उम्र के 30 साल पूरे होने के बाद फॉर्मूला वन में सुटिल के लिए आगे ज्यादा मौके नहीं हैं. लेकिन फोर्स इंडिया के सामने चुनौती अच्छे खिलाड़ियों की नहीं पैसों की भी है.

एएम/एजेए (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links