1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फोटो के लिए मंत्री ने कोच को धकेला

वर्ल्ड चैंपियन के साथ फोटो खिंचाने के लिए मंत्री महोदय ने उस शख्स को धकेल कर किनारे कर दिया, जिसकी मेहनत से सुशील कुमार वर्ल्ड चैंपियन बन पाए. जीत दर्ज कर लौटे सुशील कुमार खेल मंत्री एमएस गिल से मिलने गए थे.

default

सुशील के साथ गिल

उनके साथ उनके कोच सतपाल सिंह और राष्ट्रीय कोच यशवीर सिंह भी मौजूद थे. सतपाल सिंह को द्रोणाचार्य पुरस्कार से नवाजा जा चुका है. सुशील कुमार को बधाई देने और उनके मेडल देखने के बाद खेल मंत्री ने वर्ल्ड चैंपियन के साथ फोटो खिंचाने का फैसला किया.

लेकिन जब फ्रेम में सुशील कुमार के कोच सतपाल भी नजर आ गए, तो शायद मंत्रीजी को यह पसंद नहीं आया और उन्होंने बाकायदा सतपाल सिंह को धकेल कर किनारे कर दिया. गिल ने सतपाल की जगह यशवीर को फोटो के लिए बुलाया और कहा कि वह चाहते हैं कि वह कोच आए, जो मॉस्को गया था.

बाद में हालांकि उन्होंने सतपाल को भी आने की दावत दी. सतपाल सिंह 1982 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं. बाद में उन्होंने इस मामले को ज्यादा तूल न देने का फैसला किया. उन्होंने कहा, "मुझे अच्छा नहीं लगा. लेकिन यह खुशी का मौका है. बेहतर होगा कि हम सुशील की उपलब्धि पर चर्चा करें."

सुशील ने भी कहा कि वह अपने कोच सतपाल सिंह की बहुत इज्जत करते हैं और अपने बचपन से उन्हीं से ट्रेनिंग ली है. रविवार को कुश्ती वर्ल्ड चैंपियनशिप में सुशील कुमार ने स्वर्ण पदक जीता. ऐसा करने वाले वे पहले भारतीय पहलवान हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः उ भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links