1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फैसले से राम मंदिर की राह आसानः आडवाणी

अयोध्या विवाद पर फैसले का भारतीय जनता पार्टी ने स्वागत करते हुए कहा है कि इससे भव्य राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ हो गया है. बीजेपी नेता एलके आडवाणी ने कहा है कि इस फैसले से राष्ट्रीय एकीकरण के नए युग की शुरुआत होगी.

default

आडवाणी को उम्मीद

बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक के बाद लालकृष्ण आडवाणी ने अपने बयान में कहा कि इस फैसले से दो समुदायों के रिश्तों में नए युग की शुरुआत होगी और राष्ट्रीय एकीकरण के लिए यह बेहद अहम फैसला है. आडवाणी ने खुशी जाहिर की है कि देश की जनता ने इस फैसले पर जिस तरह से परिपक्वता का प्रदर्शन किया है उससे पार्टी अभिभूत है.

आडवाणी के मुताबिक हाई कोर्ट के फैसले में विवादित जमीन पर मंदिर निर्माण के हिंदुओं के अधिकार को हरी झंडी दिखाई गई है. एक लिखित बयान पढ़कर सुनाने के बाद आडवाणी ने किसी तरह के सवाल जवाब से परहेज किया. बैठक में पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, अरुण जेटली सहित अन्य नेता मौजूद रहे.

Sicherheitskräfte bewachen eine Moschee vor dem mit Spannung erwarteten Urteil des Supreme Courts zu Ayodhya in Bhopal

हाई कोर्ट का फैसले आने के बाद बीजेपी खेमे में खुशी होने के बावजूद पार्टी कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाने से गुरेज किया. दिल्ली में पार्टी मुख्यालय के बाहर फैसला आने से कुछ देर पहले करीब 50 पार्टी कार्यकर्ता एकत्र हो गए. फैसला आने के तुरंत बाद उन्होंने जयश्री राम, हर हर महादेव के नारे लगाते हुए पटाखे चलाए और मिठाई बांटी. लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं को तुरंत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने थाम लिया और उन्हें सीधे शब्दों में समझा दिया कि उनके जश्न मनाने से लोगों में गलत संदेश जाएगा.

हाई कोर्ट के फैसले पर बीजेपी की प्रतिक्रिया आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के फैसले का स्वागत करने के बाद ही आई. मोहन भागवत ने शांति बनाए रखने और दूसरों की भावनाओं को ठेस न पहुंचाने की अपील की है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links