1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

फेसबुक से विवादित पेज हटा

इस्लाम धर्म के लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत करने वाले पेज को फेसबुक से हटाया गया. इसी पेज पर पैगम्बर मोहम्मद के कार्टून बनाने का अभियान चलाया गया जिसके बाद लोगों ने आपत्तिजनक कार्टून बनाए. अमेरिकी कार्टूनिस्ट की माफी.

default

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक का कहना है कि उसने विवादित पेज को नहीं हटाया है. माना जा रहा है कि जिस व्यक्ति ने यह पेज तैयार किया था उसी ने हटाया है. कुछ दिन पहले एक व्यक्ति ने 20 मई को 'एवरीबडी ड्रॉ मोहम्मद डे' कहा और लोगों से पैगम्बर मोहम्मद के कार्टून बनाने की अपील की.

अभिव्यक्ति की आजादी की दलील देकर बनाए गए इस पेज पर एक लाख से ज़्यादा यूजर्स आए और कई लोगों ने बेहद आपत्तिजनक कार्टून बनाए. इससे करोड़ों लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई और पाकिस्तान में फेसबुक पर प्रतिबंध लगा दिया गया.

इससे पहले एक अमेरिकी कार्टूनिस्ट मौली नौरिस ने एक स्थानीय टेलीविजन चैनल के लिए पैगम्बर मोहम्मद का कार्टून बनाया था. नौरिस ने अपने कार्टून को 'एवरीबडी ड्रॉ मोहम्मद डे' का नाम दिया था. फेसबुक पेज भी इसी से प्रभावित होकर बनाया गया. अभी यह साफ नहीं है कि यह पेज किसने बनाया.

Protest gegen Facebook in Pakistan

पाकिस्तान में विरोध

बढ़ते विवाद के बीच मौली नौरिस ने लोगों से माफी मांगते हुए कहा है, ''मैंने फेसबुक पेज शुरू नहीं किया. मैं इस्लाम धर्म पर विश्वास रखने वाले लोगों से माफी मांगती हूं. "

अपने ब्लाग पर सफाई देते हुए नौरिस ने कहा, ''मैंने 20 मई को एवरीबडी ड्रॉ मोहम्मद डे घोषित नहीं किया. मैंने साउथ पार्क नामके टेलीविजन शो के लिए अपना कार्टून बनाया था जिसके प्रसारण पर रोक लगा दी गई थी. किसी फर्जी ग्रुप ने मेरे कटाक्ष करने वाले पोस्टर का इस्तेमाल किया और इसे हाईजैक करते हुए गंभीर बीमारी बना दिया.''

वैसे यह पहला मौक़ा नहीं है जब पैगम्बर मोहम्मद का विवादित कार्टून बनाया गया हो. 2005 में डेनमार्क में इस तरह का पहला मामला सामने आया था. तब भी कार्टून और कार्टून बनाने वाले के खिलाफ दुनिया भर में प्रदर्शन हुए थे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री