1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

फेसबुक में पैनिक

ब्रिटेन की एक बाल सुरक्षा एजंसी ने फेसबुक से वेबसाइट पर पैनिक बटन डालने की मांग की है मगर फेसबुक अभी भी अपने इंकार पर अड़ा है.

default

फेसबुक पर पैनिक बटन की मांग

ब्रिटेन की एक बाल सुरक्षा एजंसी सी.ई.ओ.पी ने फेसबुक से वेबसाइट पर पैनिक बटन डालने की मांग की है. दरअसल यह मांग तो कई महीनों से की जा रही थी, लेकिन फेसबुक ने अब तक इस पर कोई चर्चा करने से साफ़ इनकार कर दिया था. आखिरकार सोमवार को वॉशिंगटन में फेसबुक के प्रतिनिधियों ने सी.ई.ओ.पी के अधिकारिओं से मुलाकात की. चार घंटे चली मीटिंग के बाद सी.ई.ओ.पी के मुख्य अधिकारी जिम गैम्बल ने कहा कि फेसबुक ने उनकी मांगों को तो नहीं माना है, लेकिन वे कम से कम सही दिशा में चल पड़े हैं. "फेसबुक अब सही निर्णय लेने से केवल एक कदम ही दूर है." उन्होंने यह भी कहा कि वे आशा करते हैं कि फेसबुक सिर्फ बातें ही न करे बल्कि कुछ कर के भी दिखाए.

सोशल नेटवर्किंग से बच्चों को खतरा

फेसबुक पर पैनिक बटन लगाने पर बहस पिछले साल अक्टूबर में ही छिड़ गयी थी. तब इंग्लैंड की एक 17 साल की लड़की ऐशले की फेसबुक पर एक अनजान शख्स से दोस्ती होने के बाद मौत का मामला सामने आया था. पीटर चैपमैन नाम के इस शख्स ने खुद को ऐश्ले का हमउम्र बताया था. 33 साल के पीटर को पुलिस कई बलात्कारों के सिलसिले में ढूंड रही थी. पिछले महीने उसे 35 साल की कैद की सज़ा सुनाई गई.

Facebook

कोई भी दे सकता है गलत पहचान.

इस मामले के सामने आने के बाद सभी सोशल नेटवर्किंग साइट्स से अपील की गई थी, कि वे हर यूज़र की प्रोफाइल में कुछ इस तरह का बटन शामिल करें जिस से किसी भी तरह का खतरा महसूस होने पर सी.ई.ओ.पी जैसी संस्था से सीधे संपर्क किया जा सके. माइक्रोसौफ्ट एमएसएन और बेबो जैसी साइटों ने इस बटन का इस्तमाल शुरू भी कर दिया है. लेकिन फेसबुक अभी तक इसी बात पर टिका हुआ है कि उसकी साईट पर पहले से ही ऐसे बटन हैं जिस से आप अनचाहे लोगों को दूर रख सकते हैं. इस पर जिम गैम्बल ने पिछले हफ्ते कहा था, "क्या फेसबुक इतना घमंडी है कि उसे इस बात की भी कोई परवाह नहीं है कि अंतरराष्ट्रीय बाल सुरक्षा संगठन क्या सोचते हैं."

बढ़ रहे हैं जुर्म के मामले

इस साल के पहले तीन महीनों में ही सी.ई.ओ.पी को फेसबुक से जुड़ी 252 शिकायतें मिल चुकी हैं. पिछले साल की तुलना में यह चौगुनी है. 2009 में कुल 292 शिकायतें दर्ज की गई थी. जिम गैम्बल का कहना है कि इन में से कोई भी शिकायत सीधे फेसबुक से नहीं है. यदि पैनिक बटन डल जाएगा तो बच्चे सीधे ही मदद के लिए संपर्क कर सकेंगे. फेसबुक के दुनिया भर में 40 करोड़ से भी ज्यादा यूज़र हैं और इन में से एक बड़ी संख्या युवाओं की है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ईशा भाटिया

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री