1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फेसबुक पर रेप का सीधा प्रसारण करने वाले गिरफ्तार

स्वीडन पुलिस ने बलात्कार को फेसबुक लाइव पर प्रसारित करने वाले तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया. बलात्कार के प्रसारण के दौरान ही पुलिस को मामले की सूचना मिली.

स्वीडन में कई फेसबुक यूजर्स की वॉल पर बलात्कार का लाइव प्रसारण दिखाई दिया. इससे हैरान लोगों ने पुलिस को जानकारी दी. पुलिस ने लोकेशन का पता कर उपसाला शहर के एक अपार्टमेंट में छापा मारा. वहां से 18 से 24 साल के तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

स्वीडिश मीडिया के मुताबिक बलात्कार का सीधा प्रसारण पुलिस के छापे के बाद बंद हुआ. रेप का प्रसारण फेसबुक के क्लोज ग्रुप में किया जा रहा था. इस ग्रुप में 200 लोग थे.

पुलिस को सूचना देने वाली जोसेफिने लुंडग्रेन ने स्थानीय अखबार एक्सप्रेशन को बताया, "पहले एक शख्स ने पीड़ित के कपड़े फाड़े और फिर उससे बलात्कार किया गया. हमलावर ने हर चीज का वीडियो बनाया और तस्वीरें भी खींचीं. तस्वीरें मेसेजिंग साइट स्नैपचैट पर भी डाली गईं."

स्वीडन में 60 हजार फेसबुक यूजर्स का एक मजबूत नेटवर्क है. इसी नेटवर्क ने पुलिस को जानकारी दी. नेटवर्क की एक सदस्य ने स्टॉकहोम के एक अखबार को बताया, "दो लड़के एक लड़की को बिस्तर में दबोचने की कोशिश कर रहे थे और उसे छू रहे थे."

पुलिस की प्रवक्ता लीजा सानेरविक ने लोगों से अपील की है कि वे बलात्कार का वीडियो शेयर करने के बजाए जांच अधिकारियों को सौंप दें. इस वीडियो को फेसबुक ने डिलीट कर दिया है, लेकिन डिलीट करने से पहले इंटरनेट पर इसकी कई कॉपियां फैल गईं. स्वीडिश मीडिया के मुताबिक एक संदिग्ध के हाथ में रिवॉल्वर भी थी.

संदिग्धों पर बलात्कार और हमले का प्रसारण करने की धाराएं लग सकती हैं. नॉर्डिक देशों (उत्तरी गोलार्ध के पास के देश) के फेसबुक प्रवक्ता ने भी वारदात को "वीभत्स अपराध" बताया. प्रवक्ता ने पुलिस की हर संभव मदद करने का वादा भी किया.

ओएसजे/वीके (एएफपी, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री