1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फेसबुक, ट्विटर पर भी होगा विश्व कप

फुटबॉल का सबसे बड़ा मुकाबला सिर्फ ब्राजील की धरती पर ही नहीं, बल्कि आभासी दुनिया में फेसबुक और ट्विटर के बीच भी जबरदस्त तरीके से खेला जाने वाला है. साओ पाओलो से रियो दे जनेरो तक इनकी धूम मच चुकी है.

फेसबुक के दुनिया भर में करीब सवा अरब यूजर हैं, जिनमें से 40 फीसदी फुटबॉल के फैन हैं. विश्व कप के दौरान फेसबुक अपनी वेबसाइट पर नए फीचर जोड़ रहा है. ब्राजील में 12 जून से 13 जुलाई के बीच दुनिया का सबसे बड़ा खेल मुकाबला होने वाला है.

खास फेसबुक पेज

फेसबुक के यूजर अपनी पसंदीदा टीम को एक विशेष वर्ल्ड कप सेक्शन में फॉलो कर सकते हैं. इस सेक्शन का नाम "ट्रेंडिंग वर्ल्ड कप" रखा गया है. यह सुविधा वेबसाइट और मोबाइल दोनों पर है. यहां ताजा स्कोर भी दिख सकेगा, खेलों के मुख्य अंश भी और फ्रेंड्स जो खेल संबंधित पोस्ट डालेंगे, वो भी दिखेगा.

इसके अलावा एक इंटरैक्टिव मैप पर यह भी दिखेगा कि टॉप खिलाड़ियों के फैन दुनिया के किस हिस्से में हैं. कंपनी फेसबुकरेफ नाम का एक पेज भी लॉन्च कर रही है, जहां फैन "दी रेफ" की कमेंट्री देख सकते हैं. यह टूर्नामेंट के दौरान फेसबुक का आधिकारिक कमेंट्री पेज होगा.

Bangladesch FIFA WM 2014 Flaggen Stimmung Stand

पूरी दुनिया में विश्व कप का बुखार

हाल के दिनों में सोशल मीडिया का दायरा बढ़ा है और इसके साथ ही बड़े खेल समारोहों में भी इनकी मौजूदगी बढ़ी है. इस साल एनएफएल सुपर बोल और उससे पहले लंदन ओलंपिक में भी इनकी बड़ी मौजूदगी दिखी थी.

पिछली बार जब 2010 में दक्षिण अफ्रीका में विश्व कप हुआ था, तो फेसबुक के पास सिर्फ 50 करोड़ यूजर थे. अब तो फेसबुक के इतने फुटबॉल फैन हैं. फेसबुक के 81 फीसदी यूजर अमेरिका और कनाडा के बाहर रहते हैं. वह कोशिश कर रही है कि फेसबुक भी ट्विटर की ही तरह रियल टाइम में लोगों के सामने चीजों को ला सके और लोगों में रियल टाइम में ही इस पर बातचीत हो पाए.

सभी मैचों पर नजर

हालांकि विश्व कप में ट्विटर भी पीछे नहीं रहना चाहता. उसने पिछले हफ्ते ही एक ब्लॉग पोस्ट किया है कि वर्ल्ड कप सिर्फ ट्विटर पर ही रियल टाइम में देखा जा सकता है, जहां सभी 64 मैचों पर नजर रखी जा सकेगी, हर गोल का अनुभव किया जा सकेगा और हर सेकंड का मजा लिया जा सकेगा.

फैन यहां भी अपनी टीमों और पसंदीदा खिलाड़ियों को फॉलो कर सकेंगे और हैशटैग वर्ल्ड कप के साथ विश्व कप फुटबॉल की गतिविधियों पर नजर रख सकेंगे. फीफा का कहना है कि फुटबॉल विश्व कप धरती पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खेल आयोजन है. उसके मुताबिक 2010 विश्व कप फाइनल कम से कम एक मिनट देखने वाले लोगों की संख्या 90.96 करोड़ थी, जो लंदन ओलंपिक 2012 के उद्घाटन समारोह के 90 करोड़ से ज्यादा थी.

रिसर्च कंपनी ईमार्केटर की डेबरा ओहो विलियमसन का कहना है कि विश्व कप मुकाबला कई हफ्तों तक चलना है, लिहाजा इसकी स्ट्रैटजी फर्राटा दौड़ की तरह नहीं, बल्कि मैराथन दौड़ की तरह बनानी होती है, "विकासशील देश इस मुकाबले में अहम भूमिका निभाएंगे."

Fußball WM 2014 Brasilien Stadien Brasilia Estadio Nacional

स्टेडियमों में तैयारी पूरी

नेटवर्क से मुकाबला

फेसबुक और ट्विटर को ब्राजील के मोबाइल नेटवर्क से भी जूझना पड़ सकता है. जो फैन मुकाबला देखने ब्राजील आ रहे हैं, वे निश्चित तौर पर अपने फोन पर फेसबुक और ट्विटर करेंगे. लेकिन आम तौर पर वहां नेटवर्क बहुत अच्छा नहीं और कई बार कॉल ड्रॉप होने की शिकायत होती है. फेसबुक और ट्विटर से उनके नेटवर्क पर ज्यादा असर पड़ सकता है.

रियो दे जनेरो में फेडरल फ्लूमिनीज यूनिवर्सिटी के विजिटिंग प्रोफेसर क्रिस्टोफर गैफनी का कहना है, "वर्ल्ड कप देखने आने वाले लोग उस तरह कम्युनिकेट नहीं कर पाएंगे, जैसा वे चाहते हैं." वह विश्व कप की तैयारियों पर खास नजर रख रहे हैं. उनका कहना है, "इंस्टाग्राम, ट्विटर और फेसबुक विश्व स्तर पर काम नहीं करेगा लेकिन ब्राजीली स्तर पर काम करेगा. तो फैन वह बेचैनी भी महसूस करेंगे, जो हम ब्राजीली हर रोज महसूस करते हैं."

एजेए/एमजे (एपी)