1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फेसबुक चैटिंग के लिए अंतरिक्ष भी दूर नहीं

करीब 20 मिनट तक धरती के एक कंप्यूटर के फेसबुक लाइव चैट विंडों से दिखाई और सुनाई दिए अंतरिक्ष की गहराइयों में बसे आईएसएस के एस्ट्रोनॉट. देखिए अपनी तरह की पहली घटना.

फेसबुक प्रमुख मार्क जकरबर्ग ने दुनिाय भर में फैले अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से ही अंतरिक्ष में संपर्क साध लिया. फेसबुक की लाइव-स्ट्रीमिंग चैट के जरिए उन्होंने अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र, आईएसएस के अंतरिक्षयात्रियों से 20 मिनट तक बातचीत की.

इस लाइव वीडियो प्रसारण को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया है. एस्ट्रोनॉट्स से बातचीत में जकरबर्ग ने स्पेस स्टेशन में किए जा रहे काम की प्रशंसा की और कुछ सवाल भी पूछे. इनमें से ज्यादातर सवाल आम लोगों ने फेसबुक पर ही जकरबर्ग को भेजे थे.

जकरबर्ग ने कहा कि फेसबुक का मकसद दुनिया भर के लोगों को जोड़ना तो है ही, इस बार "अंतरिक्ष में मौजूद लोगों को जोड़ पाना अपने आप में एक चरम और आनंददायक बात है."

धरती से जकरबर्ग ने अंतरिक्ष में आईएसएस क्रू के तीन सदस्यों से बात की. उन्होंने स्पेस में हो रहे वैज्ञानिक परीक्षणों के बारे में भी पूछा. जकरबर्ग ने यह भी जानना चाहा कि अंतरिक्ष में खाना उन्हें कैसा लगता है और वे मजे के लिए क्या करते हैं. अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर हमेशा अंतरिक्ष यात्रियों का दल मौजूद रहता है. अंतरिक्ष यात्री वहां 6 महीने बिता कर लौट आते हैं.

वीडियो देखें 00:36

आईएसएस ने भेजा अंतरिक्ष से पृथ्वी का नजारा.

आईएसएस में जीरो ग्रैविटी का दहन, द्रव और मानव शरीर पर असर का पता लगाने वाले कई परीक्षण किए जा रहे हैं. एस्ट्रोनॉट्स ने बताया कि अंतरिक्ष में लोगों और स्पेस स्टेशन का सही सलामत रह पाना भविष्य के लिए एक महत्वपूर्ण कदम होगा.

अंतरिक्ष में रहने के अपने अनुभव के बारे में उन्होंने बताया कि खाने की चीजों का स्वाद वहां कुछ बदला हुआ लगता है. इससे निपटने के लिए एस्ट्रोनॉट अपने भोजन में कई तरह के मसाले मिलाते हैं.

आईएसएस के कमांडर टिमोथी कोपरा ने कहा कि उन्हें स्पेस से फेसबुक पर तस्वीरें शेयर करना भाता है. तीनों एस्ट्रोनॉट्स ने एक साथ वीडियों में समरसॉल्ट कर के दिखाया है. जकरबर्ग अपनी ही प्रोडक्ट की असीम क्षमता पर आश्चर्य मिश्रित खुशी के साथ बोलते दिखे, "जीरो ग्रैविटी में फ्लिप किए बिना बाहरी अंतरिक्ष से एस्ट्रोनॉट्स के साथ हो रही पहली लाइव चैट पूरी ही नहीं होती. इस का काम कर जाना शानदार है."

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो