1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फेनेल का अल्टीमेटम और रानी नाराज

भले ही हॉकी फ़ेडरेशन के चुनाव में सुरेश कलमाडी की प्रतिनिधि विद्या स्टोक्स जीत गई हों, लेकिन कॉमनवेल्थ गेम्स के मोर्चे पर उनकी मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं. उन्हें 10 दिन के अंदर सारी अव्यवस्था दूर करनी है.

default

कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन के अध्यक्ष माइक फ़ेनेल ने गेम्स की संगठन की समिति से कहा है कि वह 10 दिन के अंदर स्टेडियम के सिलसिले में सारी अव्यवस्था दूर करें. फ़ेनेल 18 व 19 अगस्त को दिल्ली में होंगे.

उनके पत्र में कहा गया है कि तब तक फ़ायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य व सुरक्षा जैसे सभी सवालों पर सभी स्टेडियमों के लिए सरकारी विभागों की रिपोर्टें तैयार हो जानी चाहिए. इससे पहले कलमाड़ी ने कहा था कि स्टेडियम की तैयारी संगठन समिति की ज़िम्मेदारी नहीं है.

स्टेडियमों को हरी झंडी दिखाने के लिए केंद्रीय व प्रादेशिक पीडब्ल्यूडी, डीडीए और भारतीय खेल प्राधिकरण की रिपोर्टें ज़रूरी हैं. इनके साथ ही फ़ायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य और सुरक्षा के सवालों पर भी स्वीकृति प्राप्त होनी चाहिए.

एक साक्षात्कार में माइक फ़ेनेल ने यह भी कहा है कि संगठन समिति के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार के आरोपों पर उन्हें गहरी चिंता है.

इस बीच पता चला है कि बेटन रीले के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप में एक ब्रिटिश फ़र्म के जुड़े रहने की ख़बर से ब्रिटेन की रानी एलिज़ाबेथ बेहद नाराज़ है. ब्रिटिश समाचार पत्र डेली एक्सप्रेस में इस आशय की एक रिपोर्ट दी है. कॉमनवेल्थ गेम्स की संगठन समिति ने बिना टेंडर बुलाए भारतीय मालिकाने की ब्रिटिश फ़र्म एएम फ़िल्म्स को सर्विस के लिए साढ़े चार लाख पौंड का भुगतान किया था.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: वी कुमार

WWW-Links