1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फेडरर को हराकर चैंपियन बने एंडी मरे

टेनिस जगत के महानतम खिलाड़ियों में शुमार स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर का दौर खत्म होता दिख रहा है. उन्हें फ्रेंच ओपन, विम्बलडन और यूएस ओपन के बाद शंघाई मास्टर्स में भी हार का मुंह देखना पड़ा है. विजेता बने एंडी मरे.

default

अब नहीं चलता जादू

फाइनल में रोजर फेडरर फीके नजर आए. 16 ग्रैंड स्लैम जीतकर खुद को दुनिया का सबसे बड़ा टेनिस खिलाड़ी साबित करने वाले फेडरर शंघाई में सीधे सेटों में हार गए. विश्व के नंबर चार खिलाड़ी ब्रिटेन के एंडी मरे ने उन्हें 6-3, 6-2 से हराकर ट्रॉफी चूमी. यह दूसरा मौका है जब मरे से शंघाई मास्टर्स जीता है.

एंडी मरे कई बड़े खिताबी मुकाबलों में फेडरर से हार चुके हैं. लेकिन रविवार को उन्होंने फेडरर को एक घंटा 25 मिनट में वापस भेज दिया. मरे ने फेडरर की तूफानी और अचूक सर्विस का करारा जवाब दिया. चार बार फेडरर की सर्विस तोड़ी. मैच के बाद फेडरर ने कहा, ''एंडी ने मुझे मैच में वापसी का कोई मौका ही नहीं दिया. वह करारे शॉट लगाते रहे.''

वहीं विजेता मरे ने कहा, ''यह मेरे लिए शानदार सप्ताह रहा. मैंने अपना बेहतरीन खेल खेला. यही वजह है कि मैं फेडरर को हरा पाया.'' इस साल यह तीसरा मौका था, जब मरे और फेडरर आमने सामने आए. साल के शुरू में ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में फेडरर ने मरे को हराकर ग्रैंड स्लैम जीता. अगस्त में टोरंटो में मरे ने हिसाब बराबर किया. अब शंघाई में तो मरे ने बढ़त ही बना ली.

टेनिस को युवाओं का खेल माना जाता है. फेडरर अब 29 साल के हो चुके हैं. आलोचक कहने लगे हैं कि उनका दौर अब खत्म हो गया है. इस साल फ्रेंच ओपन, विम्बलडन और यूएस ओपन में वह फाइनल तक भी नहीं पहुंच पाए. सात साल तक लगातार बड़े खिताब जीतने वाले फेडरर अब रैंकिंग में भी तीसरे स्थान पर हैं. हालात संकेत दे रहे हैं कि सूरज अब डूबता दिख रहा है, फेडरर युग समाप्त होता दिख रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links