1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

फिल्म सेट बढ़ा रहे हैं पर्यटन

यूरोप और अफ्रीका में गेम्स ऑफ थ्रोन्स नाम की फिल्म के सेट लोग बहुत पसंद कर रहे हैं. और इन कहानियों के दीवाने ये सेट देखने दूर दूर से पहुंच रहे हैं.

साहित्य का पर्यटन पर क्या असर होता है इसका जवाब न्यूजीलैंड से बेहतर कोई नहीं दे सकता. लॉर्ड ऑफ द रिंग्स के हॉबिट सिर्फ पर्दे पर ही मौजूद नहीं हैं बल्कि उनके घर और गांव आमने सामने देखने और छूने के लिए भी हैं. न्यूजीलैंड में इस फिल्म ने पर्यटन में खूब मदद की है. फिल्म रिलीज हुए काफी समय हो गया लेकिन इस द्वीप और इन घरों की लोकप्रियता बरकरार है.

और अभी लोगों के सिर चढ़ कर बोल रहा है गेम्स ऑफ थ्रोन्स का जादू. इससे कई देशों को फायदा हो रहा है. अमेरिका का लोकप्रिय धारावाहिक जर्मनी के आरटीएल2 टीवी चैनल पर दिखाया जाने वाला यह सीरियल रोमन काल पर आधारित है. यह डास लीड फॉन आईस उंड फॉयर नाम के सागा पर बनाया गया है. इसे निर्देशक गेऑर्ग आरआर मार्टिन ने यूरोप और अफ्रीका में शूट किया है.

फिलहाल पांचवें सीजन की शूटिंग टल रही है. मध्ययुग के सेट उत्तरी आयरलैंड, स्कॉटलैंड, मोरक्को, आइसलैंड, ग्रीस, दक्षिणी स्पेन, माल्टा और क्रोएशिया में लगाए गए हैं. यानी इस सागा के फैंस के पास कई जगहों पर जाने का मौका है. ताकि वह राजा, सैनिकों और बाकी किरदारों को महसूस कर सकें.

जहां भी सेट बनाया जाता है वहां पर्यटन बढ़ता है. हो सकता है कि उत्तरी आयरलैंड में शूटिंग के दौरान इतना मीडिया वहां पहुंचे कि लोगों को उस इलाके के बारे में जानकारी मिलने लगे. बेलफास्ट के पेंट हॉल में ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिजाबेथ भी पहुंची थीं.

पास ही में कासल वॉर्ड, विंटरफॉल किला या फिर गांव बेलिंटॉय हैं जो शूटिंग के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे. उत्तरी इराक के अलावा क्रोएशिया में भी शूटिंग होनी है. शूटिंग के पहले भी इलाके में पर्यटन शुरू हो गया. इन इलाकों के लिए चार घंटे का घूमने की पेशकश की गई और कुछ होटलों ने गेम ऑफ थ्रोन्स स्टाइल के डिनर की भी पेशकश की. ग्रीस के मेटेओरा मठ, माल्टा द्वीप के मध्यकालीन शहर म्दीना में भी शूटिंग हुई.

आइसलैंड के वात्न्योकुल राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा ऑन द वॉल हिस्से की कहानी बयान करता है. वहीं पांचवें सीजन की शूटिंग के लिए दक्षिणी स्पेन के सेविया का चुनाव किया गया. भले सीरियल में दिखाई जाने वाली कहानी काल्पनिक हो लेकिन जहां उसकी शूटिंग हुई है, वो जगह पर्यटन निश्चित ही बढ़ेगा.

एएम/एजेए (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री