1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

फिल्मों में काम नहीं करना चाहती थीं रेखा

बॉलीवुड में लगभग पांच दशक से दर्शकों को अपना दीवाना बनाने वाली सदाबहार अभिनेत्री रेखा का कहना है कि वह फिल्मों काम नहीं करना चाहती थीं. रेखा के मुताबिक उन्होंने कभी किसी फिल्म निर्माता से काम नहीं मांगा.

1966 में बाल कलाकार के रूप में फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने वाली रेखा को फिल्म उद्योग में आए हुए लगभग पांच दशक हो चुके हैं. इस दौरान उन्होंने अपने दमदार अभिनय से दर्शकों के दिलों में खास पहचान बनायी है. लेकिन फिल्म जगत में आना उनकी प्राथमिकता नहीं थी.

रेखा कहती हैं, "फिल्म इंडस्ट्री में काम करने की मेरी ख्वाहिश नहीं थी लेकिन मैं इस बात को लेकर बेहद खुश हूं कि ऐसा हुआ. खून भरी मांग के दौरान मैंने महसूस किया कि मैं केवल अभिनेत्री बन सकती हूं और कुछ नहीं. मुझे जिस तरह के भी प्रस्ताव मिले, मैंने उन्हें खुशी खुशी स्वीकार किया. मैंने उनका आदर किया."

10 अक्टूबर 1954 को चेन्नई में पैदा हुई रेखा हिन्दी सिनेमा में छह दशक से काम कर रही हैं. बाल कलाकार, फिर मुख्य अभिनेत्री और अब मां के किरदार करने वाली रेखा मुंबई के शुरुआती दिनों को याद करते हुए कहती हैं, "मुंबई शहर एक जंगल की तरह था जहां मैं निहत्थी थी. यह मेरी जिंदगी का सबसे चुनौती भरा समय था. मैं दुनिया की परवाह ही नहीं करती थीं." शुरुआत में रेखा को हिंदी नहीं आती थी. इसकी वजह से उन्हें काफी परेशानी हुईं. लेकिन उनकी कड़ी मेहनत उन्हें इस चुनौती से भी पार ले आई और उन्हें हिन्दी सिनेमा की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्रियों में शुमार कर गईं.

रेखा अब अभिषेक कपूर की फिल्म फितूर में काम करने जा रही हैं. इस फिल्म में रेखा के अलावा कैटरीना कैफ और आदित्य रॉय कपूर की भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं हैं.

ओएसजे/एमजी (वार्ता)

संबंधित सामग्री