1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फिलीपींस में डॉक्टरों के सिगरेट पीने पर बैन

फिलीपींस में डॉक्टर अब धूम्रपान नहीं कर सकेंगे. उन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. देश की मेडिकल एसोसिएशन ने यह फैसला किया है ताकि लोगों के सामने एक अच्छी मिसाल पेश की जा सके.

default

शनिवार को एसोसिएशन ने यह आदेश जारी किया. इस आदेश में कहा गया है कि लोगों पर डॉक्टरों के जरिए पैसिव स्मोकिंग का भी असर नहीं होना चाहिए. एसोसिएशन के अध्यक्ष ऑस्कर टिनियो ने कहा, "सेहत के मामले में डॉक्टर लोगों के आदर्श होने चाहिए. समाज के सभी क्षेत्रों में उनके जीने के तरीके और व्यक्तित्व का बहुत प्रभाव होता है. इसलिए अगर वे धूम्रपान करते नजर आते हैं तो यह बिल्कुल सही नहीं है."

Umstände in Manila zwingen häufig zur Flucht

फिलीपींस में सिगरेट पीते हैं 28 फीसदी लोग

डॉक्टरों के लिए यह प्रतिबंध काफी कड़े तरीके से लागू किया जाएगा. एसोसिएशन के प्रवक्ता माइक आरागोन ने कहा कि डॉक्टर सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करते नजर नहीं आने चाहिए और अगर कोई डॉक्टर ऐसा करता दिखाई देता है तो लोग उसकी शिकायत कर सकते हैं. हालांकि इस बारे में अभी किसी सजा पर फैसला नहीं किया गया है. जब आरागोन से पूछा गया कि अगर कोई डॉक्टर इस नियम का उल्लंघन करता पकड़ा जाता है, तो उसे क्या सजा मिलेगी, उन्होंने कहा कि जब ऐसा होगा तब इस बारे में भी सोचा जाएगा.

डॉक्टरों के धूम्रपान करने पर एसोसिएशन काफी चिंतित है. टिनियो ने कहा कि वह खुद ऐसे कई डॉक्टरों को जानते हैं जो धूम्रपान करते हैं. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक फिलीपींस में एक करोड़ 73 लाख लोग धूम्रपान करते हैं, जो देश की कुल जनसंख्या का 28 फीसदी है. इनमें ज्यादातर लोग 15 साल से ज्यादा उम्र के हैं.

देश के राष्ट्रपति बेनिग्नो अकीनो ने भी कबूल किया है कि वह धूम्रपान करते हैं. उनका कहना है कि उनका काम बहुत तनाव भरा है और उससे निबटने के लिए उन्हें धूम्रपान की जरूरत पड़ती है. उनके इस बयान की खासी आलोचना हो चुकी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links