1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फिलहाल सैनिक हस्तक्षेप जरूरी नहीं: पुतिन

रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने कहा कि क्रीमिया में फिलहाल सैनिक कार्रवाई की जरूरत नहीं. यूक्रेन में हस्तक्षेप के कारण अमेरिका ने रूस के साथ सैन्य सहयोग रोक दिया है जबकि विदेश मंत्री जॉन केरी आज यूक्रेन पहुंच रहे हैं.

यूक्रेन में जारी संकट के बीच राष्ट्रपति पुतिन ने कहा है कि वे इस समय पड़ोसी देश में रूसी सैनिकों को भेजने की जरूरत नहीं देखते, लेकिन अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए सारे विकल्प सुरक्षित रखते हैं. एक लाइव प्रसारण में उन्होंने दावा किया कि यूक्रेन में सैनिकों को भेजा जाना वैध होगा. शनिवार को रूसी संसद ने उन्हें सैनिक हस्तक्षेप के लिए हरी झंडी दे दी थी. रूसी राष्ट्रपति ने यूक्रेनी संसद द्वारा अपदस्थ राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच को देश का एकमात्र वैध राष्ट्रपति बताया. कीव में कई दिनों तक चले खूनी संघर्ष के बाद संसद ने उन्हें पद से हटा दिया था. पुतिन ने इसे हथियारबंद सत्तापहरण की संज्ञा दी.

क्रीमिया की स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है. संकट के बीच रूस के दो युद्धपोत काला सागर की ओर बढ़ रहे हैं. तुर्की की मीडिया के अनुसार युद्धपोत सारातोव और जमाल ने मंगलवार सुबह बोसपोरस की खाड़ी पार की. ये दोनों युद्धपोत क्रीमिया में तैनात रूसी नौसैनिक बेड़े का हिस्सा हैं. इस बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने यूक्रेन की सीमा के करीब कुछ दिनों से चल रहे सैनिक अभ्यास को रोकने के आदेश दिए हैं.

प्रतिबंधों की धमकी

पश्चिमी देश रूस के खिलाफ दंडात्मक कदमों की घोषणा कर रहे हैं तो रूस ने सैनिक हस्तक्षेप के लिए पहली बार अपनी दलील दी है. रूस के संयुक्त राष्ट्र दूत विताली चुरकिन ने यूक्रेन में रूस के हस्तक्षेप के बारे में कहा कि यूक्रेन के अपदस्थ राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच ने नागरिकों की सुरक्षा के लिए रूस से मदद मांगी थी. उन्होंने सुरक्षा परिषद में यानुकोविच का लिखा एक पत्र सौंपा.

Obama zur Lage auf der Krim

यूक्रेन में हस्तक्षेप के कारण अमेरिका ने रूस के साथ सैन्य सहयोग रोक दिया है

पश्चिमी राजनीतिज्ञों ने रूस के सैनिक अभ्यास को यूक्रेन विवाद में धमकी के रूप में देखा है. हालांकि क्रीमिया पर मंगलवार को स्थिति आम तौर पर शांत रही. अपुष्ट खबरों के अनुसार यूक्रेनी सैनिकों ने रूसी सैनिकों के साथ बातचीत के बाद बेलबेक हवाई अड्डे के एक हिस्से को फिर से अपने नियंत्रण में ले लिया है. यूक्रिनी सीमा बल ने रात को बताया कि रूसी सैनिक एक नौका में क्रीमिया के पूरब में कैर्च शहर चले गए.

पश्चिमी देश रूस के यूक्रेन में हस्तक्षेप से खासा नाराज है. यूरोपीय संघ और अमेरिका ने रूस को क्रीमिया से अपने सैनिक जल्द नहीं हटाने पर प्रतिबंधों की चेतावनी दी है. पश्चिमी देशों ने सोची में होने वाले जी8 सम्मेलन की तैयारियां भी रोक दी हैं. ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन, जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल और फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसोआ ओलांद ने रुस के कदम को अस्वीकार्य बताया और बुरे परिणामों की चेतावनी दी. जर्मन विदेश मंत्री फ्रांक वॉल्टर श्टाइनमायर ने कहा, "बर्लिन की दीवार गिरने के बाद से यह यूरोप का सबसे बड़ा संकट है."

यूक्रेन में केरी

ओबामा ने भी रूस को आर्थिक और कूटनीतिक सहयोग रोकने की धमकी दी है. ओबामा ने कहा, "मेरे ख्याल में विश्व इस बात पर एक मत है कि रूस द्वारा उठाए गए कदम यूक्रेन की संप्रभुता का हनन है. यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन है." अमेरिकी रक्षा विभाग के प्रवक्ता जॉन कर्बी ने एक बयान जारी कर कहा, "यूक्रेन में चल रहे हालात को देखते हुए अमेरिका और रूस के बीच सभी तरह के सैन्य सहयोग रोक दिए गए हैं."

यूक्रेन में बिगड़े हालात और रूस के हस्तक्षेप बाद अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी मंगलवार को कीव पहुंच रहे हैं. उनकी यूक्रेन यात्रा तनाव के बीच आनन फानन में तय हुई. अमेरिकी विदेश मंत्रालय का कहना है कि केरी यूक्रेन की नई सरकार से मिलकर उन्हें यह भरोसा देना चाहते हैं कि यूक्रेन की संप्रभुता, स्वतंत्रता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए अमेरिका का समर्थन उनके साथ है.

एसएफ/एमजे (एएफपी)

संबंधित सामग्री