फिर इतिहास के पास बायर्न | खेल | DW | 08.11.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फिर इतिहास के पास बायर्न

जर्मनी का जाना माना फुटबॉल क्लब बायर्न म्यूनिख एक और इतिहास बनाने की दहलीज पर पहुंच चुका है. अगर वह अगला मैच नहीं हारता है तो जर्मन लीग मुकाबले में सबसे लंबे वक्त तक अविजित रहने वाला क्लब बन जाएगा.

इस साल की यूरोपीय चैंपियन को इसके लिए कमजोर समझी जाने वाली टीम ऑग्सबुर्ग से टकराना है और वह भी अपने ही ग्राउंड पर. म्यूनिख में होने वाले इस मुकाबले में अगर टॉप टीम बायर्न अंक तालिका में 13वें नंबर पर चल रही ऑग्सबुर्ग की टीम को हरा देती है या फिर ड्रॉ भी खेलती है, तो 30 साल पुराना रिकॉर्ड टूट जाएगा. अब तक वह लगातार 36 मैचों में अविजित रही है.

हालांकि बायर्न के कप्तान फिलिप लाम का कहना है, "आप फुटबॉल रिकॉर्ड तोड़ने के लिए नहीं खेलते हैं. लेकिन अगर मौका होता है, तो आप जरूर इसकी कोशिश करते हैं कि ऐसा हो जाए." लाम जर्मनी के राष्ट्रीय टीम के भी कप्तान हैं.

उनका कहना है, "हमें इस मोड़ तक पहुंचने में काफी कड़ी मेहनत करनी पड़ी है. अगर आप बुंडेसलीगा (जर्मन फुटबॉल लीग) का इतिहास देखेंगे, तो आप पाएंगे कि बिना हारे यहां तक पहुंचना इतना आसान काम नहीं है." इससे पहले हैम्बर्ग ने 1983 में लगातार 36 मैच अविजित रहने का रिकॉर्ड बनाया था, बायर्न ने पिछले मैच में जिसकी बराबरी कर ली. लेकिन फर्क यह है कि हैम्बर्ग ने जहां 36 में से 20 मैचों में जीत हासिल की थी, बायर्न म्यूनिख की टीम ने 30 मैचों में जीत हासिल की. इस दौरान लाल जर्सी वाले खिलाड़ियों ने 95 गोल ठोंके.

जहां तक प्रतिद्वंद्वी टीम ऑग्सबुर्ग का सवाल है, उसने अपने आखिरी पांच मैचों में सिर्फ एक बार जीत हासिल की है, जब पिछले हफ्ते उसने कमजोर टीम माएंज को हराया था. अगर वह चैंपियंस लीग की विजेता बायर्न म्यूनिख को हरा देती है, तो जरूर सनसनी फैल जाएगी. बायर्न को आखिरी बार अक्टूबर 2012 में हार का सामना करना पड़ा था, जब जर्मन फुटबॉल लीग की टीम बायर लेवरकूजन ने उसे हराया था.

टीम इस वक्त जर्मन फुटबॉल लीग बुंडेसलीगा के साथ साथ यूरोप के सबसे बड़े लीग मुकाबले चैंपियंस लीग की भी विजेता है.

एजेए/एनआर (एएफपी)

DW.COM

WWW-Links