1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फिक्सिंग के साए में पहला टी 20 आज

पाकिस्तान के तीन खिलाड़ी जहां थाने और पुलिस के चक्कर लगा रहे हैं, वहीं बाकी टीम के सामने टेस्ट मैचों की शर्मनाक हार और मैच फिक्सिंग कांड के खुलासे के बाद आज पहली बार ग्राउंड पर उतरने की चुनौती है.

default

अफरीदी का इम्तिहान

इलजाम, विवाद, लगातार हार और आरोपों से घिरी शाहिद अफरीदी की टीम को कार्डिफ में इंग्लैंड से मुकाबला करना है. हालांकि इंग्लैंड ने चार मैचों की सीरीज में पाकिस्तान को 3-1 से बुरी तरह शिकस्त दे दी है लेकिन इसके मैचों में फिक्सिंग की बात सामने आने पर हर तरफ हड़कंप है.

दागी खिलाड़ी पहले ही बाहर कर दिए गए हैं और आईसीसी ने उन्हें सस्पेंड भी कर दिया है. सलमान बट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमेर ट्वेन्टी 20 या वनडे सीरीज में नहीं खेलेंगे. लेकिन उनकी गैरमौजूदगी में कमजोर गेंदबाजी के साथ पाकिस्तान को लय में चल रही इंग्लैंड की टीम को पटखनी देने की बड़ी चुनौती होगी. इंग्लैंड पर बड़ी जीत हासिल करने के बाद ही पाकिस्तान की टीम थोड़ी बहुत प्रतिष्ठा बचा सकती है.

Pakistan Cricket Manipulation

पाकिस्तान टीम पर दबाव

मैच से पहले पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफरीदी ने मैच फिक्सिंग के मामले को लेकर क्रिकेट प्रेमियों से माफी मांगी. कार्डिफ में प्रैक्टिस के बाद अफरीदी ने कहा, "मैं समझता हूं कि यह बहुत बुरी खबर है. मैं जानता हूं कि ये तीनों खिलाड़ी अब इस सीरीज में नहीं हैं. इनकी तरफ से मैं क्रिकेट प्रेमियों से माफी मांगता हूं."

अफरीदी ने इस बात का भी खुलासा किया कि मजहर मजीद ने कई जगहों पर पाकिस्तान क्रिकेट टीम के साथ दौरा किया है. उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया और वेस्ट इंडीज में उन्होंने मजीद को पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ देखा है. लेकिन इससे ज्यादा वह कुछ नहीं जानते. आरोप है कि मजहर मजीद ने पैसे लेकर पाकिस्तानी गेंदबाजों से नो बॉल डलवाए, जो स्पॉट फिक्सिंग का एक हिस्सा थे.

हाल के दिनों में स्पॉट फिक्सिंग का चलन बढ़ा है. इसमें किसी मैच का नतीजा नहीं तय किया जाता बल्कि किसी खास गेंद पर सट्टा लगता है और उस गेंद को पहले ही तय कर लिया जाता है. इस तरह फिक्सिंग करने वाले सटोरियों को लाखों लाख रुपये के फायदा हो जाता है क्योंकि क्रिकेट की हर गेंद पर सट्टेबाजी होती है.

अफरीदी ने भरोसा दिया कि ट्वेन्टी 20 के बाद वनडे सीरीज भी खेली जाएगी. उन्होंने कहा, "मैंने लड़कों से कहा है कि वे कल का अखबार न पढ़ें, बल्कि क्रिकेट खेलें. मुझे पता है कि पाकिस्तान के लोग बेहद निराश हैं. हम सभी क्रिकेट से प्यार करते हैं. एक टीम की तरह हम अच्छा खेल सकते हैं और जब हम घर लौटेंगे तो चीजें सामान्य हो सकती हैं. एक कप्तान के तौर पर मेरे सामने बड़ी चुनौती है. लेकिन मुझे लगता है कि हम इसे पार कर लेंगे."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links