1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

फिक्सिंग के सबूतों में सच्चाई है: आईसीसी

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे वन डे मैच की जांच शुरू कर दी है. शुक्रवार के इस मैच पर फिक्सिंग के आरोप लग रहे हैं. इंग्लैंड के एक अखबार ने दावा किया कि मैच फिक्स किया गया था.

default

फिर फिक्सिंग की फांस

आईसीसी ने मैच की जांच का फैसला अखबार की रिपोर्ट आने के बाद किया. इस रिपोर्ट में मैच के स्कोर के बारे में कहा गया है कि कई जगह पर फिक्सिंग दिखाई देती है. अखबार का दावा है कि जिस तरह से स्कोर ऊपर नीचे हुआ वह भारत और दुबई में बैठे सट्टेबाजों के गिरोह के इशारों पर हुआ.

अखबार द सन ने लिखा है कि सट्टेबाजों को मैच शुरू होने से पहले ही पता चल गया कि पाकिस्तान की पारी कैसी होगी. रिपोर्ट के मुताबिक अखबार ने इस बारे में सबूत आईसीसी को दे दिए हैं. इस खबर के बाहर आने के फौरन बाद आईसीसी ने कहा कि इस बारे में जांच शुरू कर दी गई है क्योंकि दी गई जानकारी में कुछ सच्चाई नजर आती है. हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

पाकिस्तान ने 17 सितंबर को ओवल में खेला गया यह मैच 23 रन से जीता. इससे पहले सीरीज के दो मैच वह हार चुका है. अखबार ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि एक फिक्सर ने सट्टेबाजों को पहले से ही लक्ष्य बता दिया और उसके बाद स्कोर उसी आधार पर ऊपर नीचे होता हुआ नतीजे तक पहुंचा. रिपोर्ट कहती है, "ऐसा लगता है कि भारत और दुबई में बैठे अवैध सट्टेबाज पहले से ही जानते थे कि क्या होने वाला है. इसी आधार पर उन्होंने सट्टा लगाया. लेकिन हमारे अखबार ने मैच शुरू होने से पहले ही इस बारे में जानकारी आईसीसी को दे दी."

आईसीसी के सीईओ हारून लोर्गट ने इस टैबलॉयड अखबार का शुक्रिया अदा किया और कहा कि जो सबूत हमें दिए गए हैं उन्हें देखकर लगता है कि जांच होनी चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links