1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फिक्सिंग के आरोपी आईसीसी अवार्ड से बाहर

आईसीसी ने पाकिस्तान के तेज गेंदबाजों मोहम्मद आमेर और मोहम्मद आसिफ को अवार्ड की होड़ से बाहर कर दिया है. ये दोनों टेस्ट कप्तान सलमान बट के साथ मैच फिक्सिंग के आरोपों में घिरे हुए हैं.

default

आमेर उभरते हुए क्रिकेटर का अवार्ड पाने की होड़ में थे, जबकि आसिफ टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर के. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद आईसीसी ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि इन खिलाड़ियों के नाम हटा दिए गए हैं. अगले महीने बैंगलोर में आईसीसी अवार्ड दिए जाएंगे.

आईसीसी के बयान में कहा गया है कि चूंकि खिलाड़ियों को सस्पेंड किया जा चुका है. इसलिए नियमों के तहत उन्हें फौरन किसी भी कार्यक्रम में हिस्सा लेने या क्रिकेट से जुड़े इवेंट में शामिल करने से रोक दिया गया है.

Mohammad Amir

आमिर दौड़ से बाहर

आमेर के साथ 16 खिलाड़ी उभरते हुए क्रिकेटर के अवार्ड के लिए चुने गए हैं. इनमें आमेर के जीतने की संभावना बेहद ज्यादा थी जिन्होंने सिर्फ 14 टेस्ट मैचों में 51 विकेट लिए हैं. आईसीसी पुरस्कार में 24 अगस्त, 2009 और 10 अगस्त 2010 के प्रदर्शन के लिए अवार्ड दिए जाने हैं. इस दौरान आमेर ने नौ टेस्ट मैचों में 33 विकेट लिए हैं.

लॉर्ड्स टेस्ट में उन्होंने इंग्लैंड के छह विकेट लिए और इस दौरान वह 50 विकेट लेने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए. लेकिन मैच पर फिक्सिंग का साया छा गया और अब आमेर का अंतरराष्ट्रीय करियर संकट में आ गया है. आमेर के अलावा उनके साथी बॉलर मोहम्मद आसिफ और टेस्ट मैचों के कप्तान सलमान बट भी फिक्सिंग के आरोपों में घिरे हैं.

आसिफ भी एक शानदार गेंदबाज के रूप में अपनी जगह बना चुके हैं. उन्होंने 23 टेस्ट मैचों में 106 विकेट लिए हैं. उन्हें टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर के कैटेगरी में रखा गया था. लेकिन आईसीसी ने उनका नाम भी हटा दिया है. पाकिस्तान ने आईसीसी के इस कदम का विरोध किया है और कहा कि जब तक कोई दोषी साबित नहीं हो जाता वह निर्दोष है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links