1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

फाइनल के अहम पड़ाव

120+2 मिनटः जर्मनी ने वर्ल्ड कप जीता. एक्स्ट्रा टाइम में एक गोल के साथ ही विश्व कप पर उनका नाम छप गया. पहली बार एकीकृत जर्मनी ने वर्ल्ड कप फुटबॉल जीता. इससे पहले तीन बार पश्चिम जर्मनी खिताब जीत चुका है.

117वां मिनटः जर्मनी बचे हुए तीन मिनट को काटने की कोशिश करते हुए. वह चौथी बार विश्व कप खिताब जीतने से कुछ ही क्षण दूर.

113वां मिनटः गोललललललल.... गोएत्से ने जर्मनी के लिए गोल किया.

110वां मिनटः जर्मनी के मिडफील्डर बास्टियान श्वाइनश्टाइगर घायल हुए. उनकी दाहिनी आंख के पास से खून बहता हुआ.

106ठा मिनटः एक्स्ट्रा टाइम का दूसरा हाफ शुरू. अब खिलाड़ियों के पास गोल करने के लिए 15 मिनट से भी कम वक्त. फिर खेल का फैसला पेनाल्टी शूटआउट से होगा.

105वां मिनटः एक्स्ट्रा टाइम का पहला हाफ खत्म. जर्मनी के कुछ बुद्धिमान मूव को छोड़ कर खेल में अब तक कोई बहुत बड़ी बात नहीं रही. कोचों को उन खिलाड़ियों की फिक्र होने लगी होगी, जो पेनाल्टी के लिए इस्तेमाल हो सकते हैं.

101वां मिनटः जर्मनी के बास्टियान श्वाइनश्टाइगर बुरी तरह गिरे. हालांकि अर्जेंटीना के खिलाड़ी मसकेरानो का कहना है कि गलती उनकी तरफ से नहीं हुई. श्वाइनश्टाइगर खेल में बने हुए. खेल थोड़ा धीमा हुआ.

96वां मिनटः बीच के पांच मिनट में दोनों कोचों ने अपनी अपनी टीमों को रामबाण दिए हैं. रियो में वर्ल्ड कप का मैदान अब पूरी तरह दूधिया बत्ती में.

91वां मिनटः आधे घंटे का एक्स्ट्रा टाइम शुरू. जर्मनी ने एक लगभग पक्का चांस मिस कर दिया. और अर्जेंटीना के गोलकीपर ने शानदार बचाव किया.

90वां+3 मिनटः दोनों हाफ में कोई भी टीम गोल करने में कामयाब नहीं हो पाईं. तीन मिनट का अतिरिक्त समय देने के बाद भी गोल नहीं हुआ. जर्मनी और अर्जेंटीना की विश्वस्तरीय टीमें गोलकीपरों को छकाने में असफल रहीं. अब यह खेल 30 मिनट के लिए बढ़ा दिया गया है. 15-15 मिनट के दो हाफ खेले जाएंगे.

88वां मिनटः वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा गोल करने वाले जर्मनी के मिरोस्लाव क्लोजे का वर्ल्ड कप सफर खत्म. कोच योआखिम लोएव ने उन्हें बाहर बुलाया और उनकी जगह ग्राउंड पर गोएत्से.

85वां मिनटः वर्ल्ड कप फुटबॉल फाइनल का रोमांच अपने चरम पर. दोनों टीमों के कोच अपनी सीटों को छोड़ कर बेचैनी में टहलते हुए. शायद उन्होंने एक्स्ट्रा टाइम के लिए रणनीति बनानी शुरू कर दी है.

82वां मिनटः तमाम सुरक्षा को भेदते हुए एक फैन ग्राउंड के अंदर जा घुसा. चार सुरक्षा वालों ने उसे उठा कर मैदान से बाहर पहुंचाया. खेल कुछ सेकेंड के लिए बाधित हुआ लेकिन फिर शुरू.

81वां मिनटः अर्जेंटीना के डी के अंदर ड्रामा. एक जर्मन खिलाड़ी गिरे. सभी ने उम्मीद से रेफरी की तरफ देखा. लेकिन रेफरी ने पेनाल्टी नहीं देने का फैसला किया. स्कोर वही 0-0.

76वां मिनटः रियो द जनेरो में सूरज डूब चुका है. स्टेडियम दूधिया बत्ती में नहाने लगी है. लेकिन वर्ल्ड कप फाइनल को अब भी पहले गोल का इंतजार है.

71वां मिनटः जर्मनी के शुर्ले ने एक बार फिर गेंद को गोल तक पहुंचाया लेकिन अर्जेंटीना के गोलकीपर रोमेरो को छका नहीं पाए. खेल में सिर्फ 20 मिनट बाकी और तनाव चरम पर.

64वां मिनटः अर्जेंटीना के खावियर मसकेरानो को वर्ल्ड कप फाइनल का अर्जेंटीना के लिए पहला यलो कार्ड दिखाया गया. अगले ही मिनट आगुएरो को भी पीला कार्ड दिखा दिया गया.

61वां मिनटः जर्मनी ने अचानक खेल पर अपनी पकड़े तेज कर ली है. वह लगातार हमले कर रहा है. हालांकि पहली सफलता अब भी दूर दिख रही है. इस बीच जर्मन गोलकीपर नॉयर को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है.

55वां मिनटः जर्मनी के गोलकीपर मानुएल नॉयर ने अपनी आदत के मुताबिक एक बार फिर डी से बाहर निकल कर गेंद पकड़ा. इस दौरान उनकी अर्जेंटीना के खिलाड़ी से टक्कर हुई. लेकिन गोल नहीं हो पाया. रेफरी ने दोनों पक्षों के खिलाड़ियों को सावधान किया.

अर्जेंटीना को दो बिलकुल पक्के मौके मिले थे. एक बार तो वह गोल नहीं कर पाया और दूसरी बार खिलाड़ी ऑफसाइड करार दिया गया. अर्जेंटीना और जर्मनी के बीच वर्ल्ड कप फुटबॉल का शानदार मुकाबला चल रहा है. आधी दूरी तक दोनों ही टीमें गोल करने में नाकाम रहीं. हालांकि अर्जेंटीना को दो बिलकुल पक्के मौके मिले थे. एक बार तो वह गोल नहीं कर पाया और दूसरी बार खिलाड़ी ऑफसाइड करार दिया गया.

एक तरफ जर्मनी की टीम ब्राजील को 7-1 के विशाल अंतर से हरा कर फाइनल में आई है, दूसरी तरफ अर्जेंटीना की टीम नीदरलैंड्स के खिलाफ पेनाल्टी शूट में जीती है. कागज पर जर्मनी की टीम को मजबूत बताया जा रहा है लेकिन मैच के अंदर अर्जेंटीना उसे पूरा टक्कर दे रही है.

DW.COM

संबंधित सामग्री