1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

फसल की रखवाली करता माइकल जैक्सन

दुनिया को अपने संगीत पर झूमने के लिए मजबूर कर देने वाले माइकल जैक्सन अब ताइवान में किसानों के काम आ रहे हैं. वहां धान की फसल से भूक्खड़ परिंदों को दूर करने के लिए खेतों में पॉप किंग के पुतले खड़े किए जा रहे हैं.

default

ऐसे ही एक पुतले को जैक्सन का रंग रूप देने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है. लकड़ी के ढांचे पर बाकायदा पॉप किंग का चेहरा बनाया गया है. हाथों को सफेद रंग के वैसे ही दस्ताने पहनाए गए हैं. सिर पर जैक्सन वाला हैट भी है. चमड़े के काले जूते भी उसी अंदाज के हैं. ऊपर से लाल रंग की जैकेट और पेंट. ये पुतले उन्हीं खास डांस स्टेप्स के मुताबिक तैयार किए गए हैं जो जैक्सन की पहचान हैं.  

इन पुतलों को बनाने का ख्याल 30 साल के सेल्समैन और माइकल जैक्सन के फैन ली पिंग-ह्सिंग को आया. अब वह मध्य ताइवान में अपने पिता के खेत के लिए भी इसी तरह के पुतले बना रहे हैं. ली का कहना है, "फसल के दिनों में मेरे पिता को रोज खेत पर जाकर चिड़ियां भगाने जाना पड़ता है. मैंने सोचा कि माइकल जैक्सन से चिड़िया भाग जाती हैं तो क्यों न उन्हें भी एक पुतला दे दिया जाए."

ली के इन अनूठे तरीके की स्थानीय मीडिया में भी चर्चा हो रही है. लेकिन उनके अपने ही परिवार में हर किसी को यह आइडिया पसंद नहीं आया. ली का कहना है, "मेरी दादी बोली कि ऐसा मत करो वरना, माइकल जैक्सन की आत्मा आकर हमें परेशान करेगी. लेकिन मैं तो कहूंगा कि अगर माइकल आ जाए तो अच्छा ही होगा." पिछले साल जैक्सन की रहस्यमी परिस्थितियों में मौत हो गई.

वैसे इस तरह के पुतलों के जरिए फसल को बचाने का चलन भारत में भी बहुत पुराना है. कई जगह इसे काकभगोड़ा कहते हैं तो कहीं इसे बिजुका का नाम दिया जाता है. लेकिन पॉप किंग को बिजुका बनाने का आइडिया अपने आप में कमाल का है. यानी पॉप किंग को अब फसलों की पहरेदारी करनी होगी.  

रिपोर्टः रॉयटर्स/ए कुमार

संपादनः ए जमाल