1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

फतवे पर इंटरनेट में सरगर्मी

भारतीय सुप्रीम कोर्ट ने इमराना जैसे मामलों को नजीर बनाते हुए कहा कि किसी धार्मिक अदालत के फैसले को कानूनी दर्जा नहीं दिया जा सकता. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कहता आया है कि अदालतों को धार्मिक मामलों में दखल नहीं देना चाहिए.

संबंधित सामग्री