1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फंसे खनिकों को निकालने के लिए बोरिंग शुरू

चिली की सोना खान में फंसे 33 खान मजदूरों के लिए उम्मीद की किरण. कई दिनों की देरी से बचाव शाफ्ट की बोरिंग शुरू हुई है. बोरिंग में जर्मनी से पहुंची मशीन भी मदद करेगी.

default

कई दिनों से बंद खान के 700 मीटर नीचे फंसे खनिको को बाहर निकालने के लिए एक शाफ्ट खोदने के काम को टाला जा रहा था. सोमवार को चिली सरकार के एक प्रवक्ता ने अटाकाम रेगिस्तान में सान खोजे खान के निकट यह जानकारी दी. सबसे पहले विशेष बोरिंग मशीन स्ट्राटा 950 से 15 मीटर गहरी खुदाई की जाएगी. उसके बाद उसमें कुछ ही समय पहले जर्मनी से ले जाया गया ड्रिल हेड लगाया जाएगा और शाफ्ट की खुदाई जारी रखी जाएगी.

इन प्रयासों के बावजूद विशेषज्ञों का अनुमान है कि 66 सेंटीमीटर चौड़ा बचाव शाफ्ट बनाने में तीन से चार महीने लग जाएंगे. खानमंत्री लावरेंस गोलबोर्न का कहना है कि विशेष ड्रिलिंग मशीन स्ट्राटा 950 हर दिन 8 से 15 मीटर गहराई तक छेद कर पाएगी. जर्मनी से ले जाए गए ड्रिलिंग हेड और प्रोपल्शन इंजिन की मदद से जल्द गहराई तक खुदाई संभव हो पाएगी.

Chile Minen Einsturz

खदान के भीतर मजदूर

खान में फंसे मजदूरों को एक पतले पाइप से जरूरत की चीजें पहुचायी जा रही हैं. परिस्थिति को देखते हुए उनकी हालत ठीक है और वे इस बीच खान के सूखे हिस्से में चले गए हैं लेकिन राहतकर्मियों की चिंता यह है कि उन्हें लंबे समय तक खान के नीचे रहना होगा.

इस बीच सुरक्षा नियमों की सरकारी निगरानी में ढील के आरोपों के बाद पहले सर लुढक रहे हैं. अटाकाम क्षेत्र के लिए प्रभारी स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रतिनिधि ने इस्तीफा दे दिया है. उसने 28 जुलाई को एक औद्योगिक दुर्घटना के कारण बंद सान खोजे खान को फिर से खोलने की अनुमति दी थी.

चिली में खनन उद्योग में निगरानी कार्यालय बहुत छोटा है. सारे देश के खनन उद्योग की निगरानी के लिए सिर्फ 18 कर्मचारी हैं, जबकि चिली का खनन उद्योग देश की आधी विदेशी मुद्रा कमाने के कारण काफी प्रभावशाली है. अब सान खोजे की दुर्घटना के बाद चिली सरकार ने एक नई निगरानी संस्था बनाने की घोषणा की है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ओ सिंह

DW.COM

संबंधित सामग्री