1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

प्रधानमंत्री ने की कश्मीर में शांति की अपील

कश्मीर में चल रही हिंसा 30 लोगों की जान ले चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से शांति की अपील की है. संयुक्त राष्ट्र ने भी चिंता व्यक्त की है.

चार अफ्रीकी देशों का दौरा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत लौट आए हैं और आते ही उन्होंने कश्मीर के हालात पर चर्चा करने के लिए उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. इस बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और वित्त मंत्री अरुण जेटली मौजूद थे.

पढ़ें: कैसे भारत की हार बनता जा रहा है कश्मीर!

बैठक के बाद पीएमओ की ओर से प्रेस को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री जीतेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री का देश लौटते ही इस तरह की उच्च स्तरीय बैठक बुलाना इस बात का प्रमाण है कि वे जम्मू और कश्मीर के हालात पर नजर रखे हुए थे.

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री ने कश्मीर घाटी में शांति बनाए रखने की अपील की है और उन्हें उम्मीद है कि स्थिति जल्द ही सामान्य हो जाएगी. उन्होंने राज्य सरकार को इस स्थिति से निपटने के लिए हर मुमकिन मदद का आश्वासन दिया है."

पढ़ें: “हर मर्द, औरत, बच्चा भारत के खिलाफ लड़ेगा”

जीतेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने यह भी उम्मीद जताई है कि बेगुनाह लोगों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने अमरनाथ यात्रा में किसी तरह की बाधा ना आने पर भी संतोष जताया है.

कश्मीर घाटी में भड़की हिंसा में अब तक कम से कम 30 लोगों के मारे जाने की खबर है और 300 से ज्यादा घायल हैं. घायलों का कहना है कि अस्पताल ले जाते समय भी पुलिस ने उनके साथ मारपीट की. यह हिंसा हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद शुरू हुई. हिजबुल मुजाहिदीन कश्मीर की आजादी के लिए लड़ने वाला संगठन है जिसे भारत ने आतंकवादी गुट घोषित किया हुआ है. हालांकि इसे स्थानीय लोगों का सहयोग प्राप्त है.

इस बीच राजनाथ सिंह ने हालात देखते हुए अपने अमेरिका दौरे को स्थगित कर दिया है. पहले ही प्रधानमंत्री मोदी को अपना अफ्रीका दौरा छोड़ कर वापस ना आने पर आलोचना का सामना करना पड़ा है.

इसके अलावा संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने भी भारत से स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हर मुमकिन कोशिश करने की अपील की है. मून के प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर कहा, "महासचिव कश्मीर के हालात पर नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने दर्जनों लोगों की जान जाने पर खेद व्यक्त किया है. बान की मून ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि आगे स्थिति को शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जा सकेगा और हिंसा पर रोक लग सकेगी. कश्मीर में पिछले चार दिन से हालात तनापूर्ण बने हुए हैं.

आईबी/वीके (पीटीआई, एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री