1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

प्रधानमंत्री ने कश्मीर मामले पर कैबिनेट बैठक बुलाई

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कश्मीर की स्थिति पर बातचीत करने के लिए कैबिनेट की बैठक बुलाई है. उधर सरकार ने साफ कर दिया है कि जब तक ज़रूरत होगी भारत के हिस्से वाले कश्मीर में सेना बनी रहेगी.

default

कैबिनेट की बैठक में भारतीय कश्मीर में सेना की कार्रवाई के बारे में फैसला किया जाएगा. घाटी में शांति बनाए रखने के लिए सेना तैनात की गई है.

मीडिया में ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि बैठक में ये भी तय किया जा सकता है कि सेना को घाटी में तैनात रखा जाए या नहीं. साथ ही राज्य सरकार से तालमेल बिठा कर सेना के काम करने के बारे में भी योजना बनाए जाने की संभावना है.

Manmohan Singh

इस बीच रक्षा राज्यमंत्री पल्लम राजू ने पुष्टी की है कि भारत के हिस्से वाले कश्मीर में सेना भेजी गई है. राजू ने ये भी कहा कि सेना कार्रवाई तभी करेगी जब कोई और रास्ता नहीं बचेगा. साथ ही रक्षा राज्य मंत्री ने ये भी कहा है कि हालात सुधरने पर सेना को वापस भी बुलाया जा सकता है.

रक्षा राज्य मंत्री एमएम पल्लम राजू ने पत्रकारों से कहा, 'ऐसी स्थिति नहीं है कि सेना कार्रवाई करे. हालात काबू से बाहर जाते दिखाई देंगे, तब देशहित में हम कार्रवाई करेंगे. जब तक ज़रूरत होगी सेना वहां मौजूद रहेगी लेकिन हम इस अवधि को कम ही रखना चाहते हैं.'

मंगलवार को हुई हिंसा में घाटी में तीन लोग मारे गए और 70 घायल हुए थे. घाटी में कर्फ्यू के बावजूद लोगों ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किए. इस दौरान सुरक्षाकर्मियों और प्रदर्शनकारियों के बीच कई बार झड़पें हुई.
रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः एन रंजन

संबंधित सामग्री