1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पोप ने की गिरजे पर बेल्जियम पुलिस छापे की आलोचना

कैथोलिक गिरजा के मुखिया पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने गिरजे के दफ़्तर पर बेल्जियम पुलिस के छापे की आलोचना की है. यौन शोषण के मामले में बेल्जियम की पुलिस ने ब्रसेल्स में आर्चबिशप के दफ्तर पर छापा मारा.

default

पोप बेनेडिक्ट

बेल्जियम की पुलिस ने छापे के दौरान एक बैठक के लिए जमा कई बिशपों को नौ घंटों तक रोके रखा और उनसे उनका सेलफोन ले लिया गया. पोप ने बेल्जियम के बिशप कांफ़्रेंस के प्रमुख आंद्रे-योजेफ़ लियोनार्ड को लिखे पत्र में बेलिजयम के बिशपों के साथ एकजुटता जताई है. पोप ने जांचकर्ताओं की कार्रवाई को आश्चर्यजनक और अफ़सोसजनक बताया है, लेकिन साथ ही आश्वासन दिया है कि कैथोलिक गिरजा यौन शोषण के मामलों की जांच में अधिकारियों के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है.

Galerie: Papst Benedikt Bild 7, 1. Messe von Papst Benedikt

बेल्जियम के कैथोलिक चर्च के सदस्यों द्वारा बच्चों के यौन शोषण के नए आरोपों के बाद पुलिस ने गुरुवार को ब्रसेल्स मेसेलेन गिरजे पर छापा मारा था. बेल्जियम यूरोप और उत्तरी अमेरिका के उन देशों में शामिल है जहां पिछले दिनों बच्चों के यौन शोषण के मामले सामने आए हैं. वैटिकन के राज्य सचिव कार्डिनल तार्सिजियो बैरतोने ने छापे के दौरान बिशपों को हिरासत में रखे जाने को गंभीर और अविश्वसनीय बताते हुए उसकी तुलना कम्युनिस्ट देशों में किए जाने वाले व्यवहार से की. वैटिकन ने फोन, कम्प्यूटर और खातों को जब्त किए जाने पर गुस्से का इजहार किया है.

इसके विपरीत बेल्जियम के कानून मंत्री स्टेफ़ान दे क्लेर्क ने रविवार को विभिन्न टेलिविज़न इंटरव्यू में पुलिस की कार्रवाई का बचाव किया. दे क्लेर्क ने कहा, आर्चबिशप कार्यालय पर छापे के दौरान बिशपों के साथ सामान्य व्यवहार किया गया और यह कहना गलत है कि उन्हें खाना-पीना नहीं दिया गया. बेल्जियम के अधिकारियों ने इस पर ज़ोर दिया है कि जांच मजिस्ट्रेट पूरी तरह स्वतंत्र हैं.

छापे के बाद बेल्जियम और वैटिकन के बीच राजनयिक तनाव की संभावना पैदा हो गई है. कानून मंत्री दे क्लेर्क ने इसका खंडन किया है लेकिन ब्रसेल्स मेसेलेन गिरजे के वकील फ़रनांड कौएलनियर का कहना है कि इससे निश्चित तौर पर रिश्तों में तनाव आएगा.
अप्रैल में बेल्जियम के दीर्घकालिक बिशप 73 वर्षीय रोज़र फ़ानघेलूवे ने एक बच्चे का वर्षों तक यौन शोषण करने की बात स्वीकार करने के बाद इस्तीफ़ा दे दिया था.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एम गोपालकृष्णन

संबंधित सामग्री