1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

पोंटिंग को पर्थ की पिच से जीत की उम्मीद

हाल की हार के बाद अब ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग पर्थ के पिच से उम्मीद लगाए बैठे हैं कि पिच का लाभ उनकी टीम को मिलेगा और वह जीतेगी. ऑस्ट्रेलिया वैसे भी जीत के अलावा फिलहाल कुछ नहीं सोच सकती.

default

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा कि घास वाला विकेट उनकी टीम के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. ऑस्ट्रेलिया पांच मैचों वाली एशेज टेस्ट सीरीज में 1-0 से पीछे है. पिछली बार इंग्लैंड ने उन्हें एक पारी और 71 रनों से मात दी. गुरुवार को पर्थ में अगला टेस्ट मैच शुरू हो रहा है.

तीसरे टेस्ट में इंग्लैंज की जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया की मिट्टी पर इंग्लैंड को 24 साल बाद जीत हासिल हो सकती है और पोंटिंग के करियर पर 120 साल में तीन बार एशेज हारने का दाग लग सकता है.

पोंटिंग ने पर्थ के ग्राउंड पर अभ्यास सत्र के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, "विकेट को देखकर लगता है कि खेल में नतीजा मिलेगा, तो इसे हमारे लिए फायदेमंद होना चाहिए. हम अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाएंगे, सीरीज में अब तक का सबसे अच्छा. हम जानते हैं कि अगर गेम जीतना है तो हमें यह करना ही होगा. साथी खिलाड़ियों के साथ मुझे पूरा विश्वास है. जिस तरह से पिछले दिनों में हमने प्रैक्टिस की है, साथ आए हैं हम अगले पांच दिन में यह जरूर कर सकेंगे."

Cricket Ashes Series Australien vs England

पोंटिग का कहना है, "ये मोटी घास नहीं है जो हम पिछले कुछ साल से इस पिच पर देख रहे हैं. यह बारीक पत्तियां हैं. जब इस तरह के विकेट होते हैं तो बॉल स्किप हो जाती है. पिच पर थोड़ी सी घास होने का मतलब है दूसरी पिचों की तुलना में गेंद ज्यादा देर तक नई बनी रहेगी. इसलिए आप सोच सकते हैं कि यह थोड़ी ज्यादा स्विंग होगी."

ऑस्ट्रेलिया की टीम में मार्कस नॉर्थ और स्टीवन स्मिथ नहीं होंगे. उनकी जगह बेन हिल्फनहाउस और मिचेल जोन्सन खेलेंगे. चोटिल सिमोन कैटिच की जगह पर फिलिप ह्यूज खेलेंगे. वहीं माइकल बीयर नए खिलाड़ी हैं.

पोंटिंग का मानना है,"मुझे इमानदारी से लगता है कि यहां का पिच इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए अनजान है. मुझे उम्मीद है कि हम इस हफ्ते इस स्थिति का फायदा उठा पाएंगे."

टेस्ट मैच के चौथे दिन यानी रविवार को पोंटिंग 36 साल के होने वाले हैं. उनकी कप्तानी पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं. "मैं अपना बेस्ट खेल दिखाउंगा और पूरी कोशिश हम करेंगे कि हम जीतें. मैं सुनिश्चित करूंगा कि मैं अच्छे रन बनाऊं और अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में टीम को छोडूं. फिर इस टेस्ट या सीरीज के बाद फैसला किया जाएगा."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम